Thursday , October 28 2021
Breaking News
Home / खबर / पेट्रोल-डीजल में एकतरफा लूट रही मोदी सरकार! टैक्स का 98% रखता है केंद्र, राज्यों के हिस्से सिर्फ 2%

पेट्रोल-डीजल में एकतरफा लूट रही मोदी सरकार! टैक्स का 98% रखता है केंद्र, राज्यों के हिस्से सिर्फ 2%

दुनिया में सबसे ज्यादा मंहगा पेट्रोल और डीजल हमारे देश भारत में बिकता है। हालंकि कच्चे तेल का दाम पूरी दुनिया में एक ही है। दरअसल पेट्रोल डीज़ल का दाम टैक्स जुड़ने के बाद बढ़ता है। अमर उजाला ने 1 जून को प्रकाशित अपनी एक खबर में लिखा है कि,

“इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के डाटा के मुताबिक, पेट्रोल का दाम मुंबई में 100.72 रुपये (1.39 डॉलर) प्रति लीटर था। न्यूयॉर्क स्टेट एनर्जी रिसर्च एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी के आंकड़ों के अनुसार, न्यूयॉर्क में पेट्रोल की कीमत 0.79 डॉलर प्रति लीटर है।”

प्रोफेसर दिलीप मंडल ने फेसबुक पर साल 2014 और 2021 में पेट्रोल डीज़ल की कीमतों की तुलना करते हुये भाजपा सरकार पर तीखी टिप्पणी की है।

दिलीप मंडल ने लिखा है कि,

“2014 में डीजल और पेट्रोल पर लगने वाला टैक्स कम था और टैक्स का 47% राज्यों को और 53% मनमोहन सरकार को मिलता था। टैक्स अब बेहिसाब बढ़ चुका है।

लेकिन राज्यों को अब टैक्स से हुई आमदनी का 2% मिलता है। बाकी 98% मोदी सरकार रख ले रही है।”

आज भी दिल्ली में पेट्रोल का दाम 97.50 रुपये है जबकि डीजल का दाम 88.23 रुपये प्रति लीटर है। मुंबई में पेट्रोल की कीमत 103.63 रुपये व डीजल की कीमत 95.72 रुपये प्रति लीटर है।

कोलकाता में पेट्रोल 97.63 और डीजल 91.15 रुपये प्रति लीटर में बिक रहा है। चेन्नई में पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने के बाद क्रमशः 98.88 और 92.89 रुपये प्रति लीटर है।

वहीं लखनऊ में पेट्रोल 94.95 रुपये और डीजल 88.71 रुपये प्रति लीटर है। पटना में पेट्रोल 97.95 रुपये और डीजल 93.63 रुपये प्रति लीटर है।

देश के हर राज्य में पेट्रोल और डीज़ल के भाव बढ़ने से विपक्षी पार्टियां विरोध कर रही हैं। वहीं सत्ताधारी भाजपा के नेता कुछ भी नहीं बोल रहे हैं। ये नेता वहीं हैं जो 2014 से पहले पेट्रोल के दाम बढ़ने पर सड़कों पर दिखाई देते थे।

loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...