Saturday , September 25 2021
Breaking News
Home / खबर / रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी : एक सितंबर से शुरू हो सकती है पटना-दिल्ली तेजस एक्सप्रेस

रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी : एक सितंबर से शुरू हो सकती है पटना-दिल्ली तेजस एक्सप्रेस

पटना: 1 सितंबर से राजधानी पटना (Patna) के राजेंद्र नगर टर्मिनल (Rajendra Nagar Terminal) से नई दिल्ली (New Delhi) के लिए तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) की शुरुआत हो सकती है. राजेंद्र नगर टर्मिनल पर दो रैक पहुंच चुके हैं और इसपर तेजस एक्सप्रेस का बोर्ड भी लगा दिया गया है.

पूर्व मध्य रेल की सबसे प्रतिष्ठित और प्रीमियम ट्रेनों में से एक राजेंद्र नगर टर्मिनल से नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन के मौजूदा एलएचबी रेक को अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त तेजस रेक में बदलने का निर्णय लिया गया है. इस बदलाव से राज्य की राजधानी पटना के राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से बेहतर कनेक्टिविटी स्थापित हो पाएगी.

अत्याधुनिक विशेषताओं के साथ राजधानी स्पेशल के नए तेजस के साथ परिचालन प्रारंभ होने से यात्रियों को सुखद यात्रा का अनुभव प्राप्त होगा. जानकारी के अनुसार पटना-नई दिल्ली रूट पर रेल पटरियों की हालत को देखते हुए पटना-दिल्ली तेजस की स्पीड 130 किलोमीटर प्रति घंटे तय की जाएगी. हालांकि यह भी जानकारी मिल रही है कि राजधानी एक्सप्रेस के समय पर पटना-तेजस एक्सप्रेस को चलाया जाएगा.

02309/02310 राजेंद्रनगर टर्मिनल-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन का परिचालन 1 सितंबर से शुरू की जाने की संभावना है. तेजस रेक ऑटोमेटिक प्लग इंडोर प्रणाली से युक्त है. इसके तहत सभी प्रवेश द्वार केंद्रीकृत रूप से नियंत्रित होंगे और सभी प्रवेश द्वार बंद होने तक ट्रेन नहीं चलेगी.

यात्री सुरक्षा एवं संरक्षा के दृष्टिकोण से काफी महत्वपूर्ण है. सबसे खास बात है कि सीसीटीवी कैमरा की युक्त इस तेजस रेक के प्रत्येक कोच में यात्रियों को यात्रा संबंधी महत्वपूर्ण सूचनाएं जैसे अगला स्टेशन, शेष दूरी, आगमन-प्रस्थान का अपेक्षित समय, विलंब और सुरक्षा संबंधित संदेश के प्रदर्शन के लिए प्रत्येक कोच के अंदर दो एलसीडी डिस्पले लगाए गए हैं.

आकर्षक आंतरिक बनावट करते हुए ऐसा बर्थ का प्रावधान किया गया है, जिसमें यात्रियों को आरामदायक यात्रा का अनुभव प्राप्त हो. सभी कोच में पर्दे की जगह रोलर ब्लाइंड लगाए गए हैं, जो साफ-सफाई को आसान बनाते हैं. प्रत्येक कंपार्टमेंट में डस्टबिन उपलब्ध रहेंगे, जिससे कोच में स्वच्छता बनाए रखने में मदद मिलेगी.

वातानुकूलित द्वितीय व तृतीय श्रेणी के कोचों में साइड लोअर बर्थ की बनावट में बदलाव लाते हुए उसे सिंगल पीस बेड का रूप दिया गया है. साथ ही ऊपर की बर्थ पर जाने के लिए सुविधाजनक व्यवस्था की गई है. सभी यात्री के लिए मोबाइल चार्जिंग प्वाइंट दिया गया है. इन कोचों को आरामदायक बनाने और बेहतर यात्रा अनुभव के लिए बोगियों में ईयर स्प्रिंग सस्पेंस दिया गया है.

सभी कोचों में ऑटोमेटिक फायर अलार्म और डिटेक्शन सिस्टम लगाए गए हैं. ऐसी व्यवस्था की गई है कि आग लगने की स्थिति में ऑटोमेटिक ब्रेक लग जाएगा. इसी तरह सुरक्षा में और सुधार के लिए नए वायरिंग के साथ विहील स्लाइड डिवाइस लगाए गए हैं.

सभी कोचों में बायो वैक्यूम टॉयलेट लगाए गए हैं, जो शौचालय में बेहतर साफ-सफाई बनाए रखने में मदद पहुंचाएगा. साथ ही इससे पानी की भी बचत होगी. शौचालय दुर्गंध नियंत्रण प्रणाली से युक्त है. इसके अलावे छोटे बच्चों के साथ सफर कर रही महिला यात्रियों की सुविधा के लिए शौचालय में शिशु देखभाल के लिए इन्फेंट केयर सीट का प्रावधान किया गया है.

loading...

Check Also

पंजाब के नए मुख्यमंत्री का भांगड़ा वाला वीडियो हुआ वायरल तो एक्ट्रेस स्वरा का यूं आया रिएक्शन

नई दिल्ली :  पंजाब के नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का एक वीडियो सोशल मीडिया ...