Wednesday , May 12 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / लखनऊ : लावारिस शवों का कंधा बन रहीं वर्षा, मदद के लिए सबकुछ झोंक दिया

लखनऊ : लावारिस शवों का कंधा बन रहीं वर्षा, मदद के लिए सबकुछ झोंक दिया

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना से हर दिन मौत का रिकॉर्ड टूट रहा है। लेकिन इस बुरे वक्त में मदद की कई ऐसे ‘दिये’ हैं जो अपने जुनून व जज्बे से दुनिया को रोशन कर रहे हैं। इन मुश्किल हालात में लोगों की मदद के लिए कई कोरोना वॉरियर्स आगे आए हैं। जो अपनी जान की परवाह किए बिना पूरी तत्परता से काम कर रहे हैं और लोगों की मुश्किलों को कम करने की कोशिश कर रहे हैं।

लखनऊ के गोमती नगर क्षेत्र की रहने वाली वर्षा वर्मा इन दिनों कोविड अस्पतालों के बाहर हाथों में पंफलेट लिए दिख जाएंगी। उनके साथ एक एंबुलेंस भी रहती है। ऐसे समय में जब लोग एक-दूसरे के करीब आने से भी डरते हैं, तब वर्षा कोरोना से जंग लड़ रहे परिवारों को बेड, ऑक्‍सीजन, दवाएं मुहैया कराने के साथ ही वर्षा अंतिम संस्‍कार भी करा रहीं हैं। इसके लिए कोई चार्ज भी नहीं लिया जाता है। लखनऊ में 4 से ज्यादा एंबुलेंस उनके और उनकी टीम के द्वारा चलाया जा रही है।

वर्षा कहती हैं कि जिन परिवारों में सभी सदस्‍य पॉजिटिव हैं या धन अभाव के कारण जो लोग किसी अपने को खोने के बाद उनका अंतिम संस्‍कार नहीं करा पा रहे हैं उन परिवारों की मदद हम लोग कर रहे हैं। मेरी टीम ने एक गाड़ी को किराए पर लिया है जो पूरा दिन लोगों के अंतिम संस्‍कार की क्रिया को कराने में लोगों की मदद कर रही है।

कोरोना काल में वर्षा अब तक 75 शवों का अंतिम संस्कार करा चुकी हैं। वर्षा कहती हैं कि हम लावारिस शवों का कंधा बनते हैं। तीन साल में अब तक 500 लावारिस शवों का अंतिम संस्कार कराया है। वर्षा एक कोशिश ऐसी भी नाम से स्वयं सेवी संस्था चलाती हैं।

साल 2013 से वे अपनी संस्था के जरिए अब तक 7,500 बेटियों की शिक्षा में मदद कर चुकी हैं। मिशन शक्ति के तहत उन्‍होंने बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, महिला सुरक्षा, महिला सेहत मुद्दों पर राजधानी में कार्यशाला का आयोजन कर लगभग 1,000 महिलाओं को जागरूक किया है।

loading...
loading...

Check Also

कोरोना मरीज का ऑक्सीजन मास्क हटाकर महिलाएं करने लगीं पूजा, फिर हुआ कुछ ऐसा!

यूपी के कानपुर से एक हैरान कर देने वाला वीडियो वायरल हुआ है. जहां पर ...