Monday , October 18 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / लखीमपुर हिंसा के बाद UP के इन जिलों में अलर्ट, पश्चिमी यूपी के सभी DM-SSP को अलर्ट रहने के आदेश

लखीमपुर हिंसा के बाद UP के इन जिलों में अलर्ट, पश्चिमी यूपी के सभी DM-SSP को अलर्ट रहने के आदेश

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किसानों के आंदोलन के दौरान केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे पर किसानों पर गाड़ी चढ़ाने का आरोप है। मामला बढ़ता देख भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत गाजियाबाद से लखीमपुर के लिए रवाना हो गए। इस बीच, वेस्ट यूपी के 27 जिलों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। लखनऊ में बैठे आला अधिकारी लगातार मॉनिटरिंग कर रहे हैं। सभी जिलों के डीएम, एसएसपी को सुरक्षा संबंधी विशेष निर्देश दिए गए हैं।

घटना के बाद से ही विपक्षी नेताओं ने लखीमपुर खीरी जाने का ऐलान कर दिया है। कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वहां जाने के लिए लखनऊ से रवाना हो गई हैं। बताया जाता है कि पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की है। बसपा नेता सतीश चंद्र मिश्रा भी लखीमपुर खीरी जाने वाले हैं, लेकिन पुलिस उनके घर के बाहर तैनात है। पश्चिम बंगाल की CM ममता बनर्जी भी अपनी पार्टी का एक दल भेजेंगी।

योगी बोले- किसी के बहकावे में न आएं लोग
CM योगी आदित्यनाथ ने लखीमपुर खीरी की घटना पर दुख जताया है। उन्होंने कहा कि सरकार घटना की तह तक जाएगी। CM ने लोगों से अपील की है कि वे अपने घरों में रहें और किसी के बहकावे में न आएं।

मुख्यमंत्री की बैठक में तय हुआ कि सिर्फ किसान नेता राकेश टिकैत को ही लखीमपुर खीरी जाने दिया जाएगा। बाकी सभी नेताओं को माहौल बिगड़ने की आशंका के मद्देनजर उनके घर या सीमा के बाहर ही रोक दिया जाएगा। न मानने पर उन्हें अरेस्ट भी किया जा सकता है।

किसानों पर रखी जा रही नजर
लखीमपुर की घटना के बाद वेस्ट यूपी के किसानों पर नजर रखी जा रही है। जहां-जहां किसानों का धरना-प्रदर्शन चल रहा है, वहां लोकल इंटेलिजेंस यूनिट यानी LIU और पुलिस प्रशासन अलर्ट हो गया है। भारतीय किसान यूनियन, संयुक्त किसान मोर्चा और दूसरे किसान संगठन के लोगों पर पैनी नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं।

6 मंडलों में फुल अलर्ट
मंडल के मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, हापुड़, बागपत और बुलंदशहर में अलर्ट किया गया है। सहारनपुर मंडल के सहारनपुर, शामली, मुजफ्फरनगर में पुलिस प्रशासन को विशेष सावधानी के निर्देश दिए गए हैं। पीलीभीत, बरेली, बदायूं, आगरा, मथुरा, मुरादाबाद, अमरोहा, नोएडा, बुलंदशहर, मेरठ, हापुड़, अलीगढ़, हाथरस, मुजफ्फरनगर, रामपुर, शाहजहांपुर, एटा, फिरोजाबाद, मैनपुरी, बिजनौर, फर्रुखाबाद, इटावा, और औरैया में भी सुरक्षा प्रबंध सख्त कर दिए गए हैं।

हाईवे पर पैनी नजर, फोर्स रिजर्व की गई

लखीमपुर में किसान जहां सड़कों पर उतर आए हैं। ऐसे में वेस्ट यूपी के जिलों में किसान अलग-अलग हाईवे पर उतर कर प्रदर्शन कर सकते हैं। कोई अप्रिय घटना न हो, इसलिए पैनी नजर रखी जा रही है। यूपी पुलिस के अलावा, पीएसी व आरएएफ को भी रिजर्व में रखा गया है।

मानवता को शर्मसार कर रही सरकार
भारतीय किसान यूनियन के नेता गौरव टिकैत ने बताया की जो भी संयुक्त किसान मोर्चा फैसला लेगा उसी को लेकर आगे काम किया जाएगा। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता नरेश टिकैत लखीमपुर पहुंच रहे हैं। हम किसानों से अपील कर रहे हैं की संयम बरतें। सरकार किसानों को मानवता से शर्मसार कर रही है।

वेस्ट यूपी में चल रहा है किसानों का धरना
3 नए कृषि कानूनों के विरोध में गाजीपुर बार्डर, सिंघु बार्डर, टीकरी बॉर्डर, दिल्ली के बाहर सारी सीमाओं पर किसानों का धरना चल रहा है। मेरठ में कमिश्नरी और सिवाया टोल पर किसान धरने पर बैठे हैं। गाजियाबाद के मंडोला में किसानों का धरना चल रहा है। रूहाना टोल, जेवर टोल पर भी किसानों का धरना चल रहा है। गाजियाबाद में सिंघु बॉर्डर पर खुद गाजियाबाद के डीएम राकेश कुमार सिंह और एसएसपी पवन कुमार पहुंच चुके हैं।

loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...