Saturday , July 24 2021
Breaking News
Home / अंतर्राष्ट्रीय / ब्रिटेन: विपक्षी पार्टी ने वोट के लिए मोदी और जॉनसन की तस्वीर लगाई, लिखा- इनसे बचकर रहना

ब्रिटेन: विपक्षी पार्टी ने वोट के लिए मोदी और जॉनसन की तस्वीर लगाई, लिखा- इनसे बचकर रहना

इंग्लैंड में उपचुनाव के लिए पार्टी की प्रचार समाग्री पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर का इस्तेमाल किए जाने पर बवाल खड़ा हो गया है। दरअसल, लेबर पार्टी ने प्रचार सामग्री पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कंजरवेटिव पार्टी के नेता और ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन से हाथ मिलाते हुए तस्वीर इस्तेमाल की है। इसमें पीएम मोदी से दोस्ती रखने वाली पार्टी यानी सत्ताधारी सांसद से बचकर रहने की बात लिखी गई है। लेबर पार्टी का कहना है कि अगर वहां के लोगों ने दूसरी पार्टी को वोट दिया तो ऐसी तस्वीर दिखने का रिस्क है, लेकिन लेबर पार्टी इस मामले में स्पष्ट है।

भारतीय संगठनों ने भारत विरोधी बताया
दरअसल, विपक्षी लेबर पार्टी ने मोदी विरोध के जरिए वोट पाने के लिए ऐसा किया है। इसके सामने आने के बाद प्रवासी भारतीय समूहों ने लेबर पार्टी को ‘विभाजनकारी’ और ‘भारत विरोधी’ बताया है। भारतीय समुदाय के संगठन कंजरवेटिव फ्रैंड्स ऑफ इंडिया (CFIN) ने कहा, ‘प्रिय कीर स्टार्मर, क्या आप इस प्रचार सामग्री की व्याख्या कर सकते हैं और स्पष्ट कर सकते हैं कि क्या लेबर पार्टी का कोई प्रधानमंत्री या नेता दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के साथ कोई संबंध रखने से इनकार करेगा? क्या ब्रिटेन में भारतीय समुदाय के 15 लाख से अधिक सदस्यों के लिए आपका यह संदेश है।’

क्या है प्रचार सामग्री में, क्यों मचा बवाल
दरअसल, ब्रिटेन के वेस्ट यॉर्कशायर में बाटली और स्पेन में गुरुवार को उप-चुनाव होने वाले हैं। यहां के सांसद रिचर्ड होल्डन हैं, जो सत्ताधारी कंजरवेटिव पार्टी से आते हैं। विपक्षी लेबर पार्टी ने प्रचार के लिए एक लीफलेट लगाया है, जिस पर मोदी और बोरिस जॉनसन की हाथ मिलाते हुए तस्वीर छपी है।

ये तस्वीर 2019 में जी-7 शिखर सम्मेलन के दौरान की है। इसमें टोरी सांसद रिचर्ड होल्डन के बारे में एक संदेश लिखा है कि लोगों को ऐसे लोगों से बचकर रहना चाहिए। लेबर पार्टी सीधे भारतीय प्रधानमंत्री का विरोध करते नजर आ रही है।

यहां के सांसद ने खुद पोस्ट की तस्वीर
कंजरवेटिव नेता और टोरी सांसद रिचर्ड होल्डन ने ट्विटर पर इसकी एक तस्वीर पोस्ट की तो सोशल मीडिया पर उनसे सवाल किया गया कि क्या इसका मतलब यह है कि लेबर पार्टी के नेता सर कीर स्टार्मर को भारतीय प्रधानमंत्री के साथ हाथ मिलाते हुए नहीं देखा जाएगा।

लेबर पार्टी में भी हुआ विरोध
इस प्रचार सामग्री को लेकर लेबर पार्टी के नेताओं के बीच भी आक्रोश है। लेबर फ्रैंड्स ऑफ इंडिया (LFIN) ने इसे तत्काल वापस लेने की मांग की। LFIN ने एक बयान में कहा, ‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि लेबर पार्टी ने अपनी लीफलेट पर दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र और ब्रिटेन के सबसे करीबी दोस्तों में से एक भारत के प्रधानमंत्री की 2019 के जी-7 सम्मेलन की एक तस्वीर इस्तेमाल की है।

लेबर पार्टी के भारतीय मूल के वरिष्ठ सांसद वीरेंद्र शर्मा ने भी इस कदम की निंदा की है।

loading...

Check Also

वैक्सीन लगाने को लेकर आपस में भिड़ गईं महिलाएं, जमकर हुई मारपीट, वीडियो वायरल

खरगोन एमपी के खरगोन जिले में वैक्सीन को लेकर जबरदस्त मारामारी (People Crowd For Vaccine) ...