Saturday , July 24 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / प्रियंका गांधी पर हमला करने को योगी के मंत्री ने अलका राय का लिया नाम, जानें क्यों?

प्रियंका गांधी पर हमला करने को योगी के मंत्री ने अलका राय का लिया नाम, जानें क्यों?

लखनऊ : तीन दिन के दौरे पर यूपी आईं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi news) ने ‘मिशन-2022’ की तैयारी शुरू कर दी है। प्रियंका ने लखीमपुर-खीरी में ब्लॉक प्रमुख चुनाव के नामांकन के दौरान अभद्रता का शिकार हुईं दो महिलाओं से जाकर मुलाकात की। प्रियंका के इस दौरे पर राजनीतिक बयानबाजी भी शुरू हो गई है। योगी सरकार में जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ने प्रियंका गांधी के लखीमपुर दौरे को लेकर निशाना साधा है। महेंद्र सिंह ने कहा कि प्रियंका गांधी को अगर महिलाओं की इतनी ही चिंता है तो जिस मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) ने कृष्णानंद राय जी की हत्या करवाई उनकी पत्नी अलका राय जी से भी जाकर मिलना चाहिए।

महेंद्र सिंह ने लिखा, महिलाओं की इतनी चिंता तो अलका राय से भी मिल लें

गाजीपुर के मुहमदाबाद से विधायक और दिवंगत कृष्णानंद राय की पत्नी अलका राय ने प्रियंका गांधी को कई पत्र लिखे थे। मुख्तार के पक्ष में पंजाब सरकार की पैरवी से नाराज अलका राय ने प्रियंका गांधी से कई बार हस्तक्षेप की मांग की थी। मंत्री महेंद्र सिंह ने इन पत्रों को ट्वीट करते हुए लिखा, ‘प्रियंका वाड्रा आपको महिलाओं की अगर इतनी ही चिंता है तो जिस मुख्तार अंसारी ने कृष्णानंद राय जी की हत्या करवाई उनकी पत्नी श्रीमती अलका राय जी से जा कर मिल लीजिए, आप शायद भूल गई होंगी पर उन्होंने आपको कई पत्र भी लिखे हैं। अब तक उन्हें आप के जवाब का इंतजार है।’

2005 में हुई थी कृष्णानंद की हत्या, मुख्तार को कर दिया गया बरी
दरअसल नवंबर 2005 में कृष्णानंद राय और उनके छह साथियों को दिनदहाड़े मौत के घाट उतार दिया गया था। एक समारोह से लौटते हुए कई हथियार बंद बदमाशों ने कृष्णानंद राय के काफिले पर हमला किया। उनके पास एके-47 और कई ऑटोमैटिक हथियार थे, जिससे राय और उनके छह साथियों की हत्या कर दी गई। सीधा आरोप मुख्तार अंसारी और उसके भाई अफजाल अंसारी पर लगा। हालांकि इतने बड़े हत्याकांड में सीबीआई एक भी सबूत पेश नहीं कर सकी और सभी आरोपियों को बरी कर दिया गया।

मुख्तार के पक्ष में पंजाब सरकार ने जमकर की थी पैरवी
कोर्ट में भले ही मुख्तार अंसारी को कृष्णानंद के कत्ल के इल्जाम से बरी कर दिया गया, मगर बीजेपी और कृष्णानंद राय का परिवार मुख्तार अंसारी को ही दोषी मानते हैं। सुप्रीम कोर्ट में मुख्तार अंसारी के यूपी की जेल में ट्रांसफर के खिलाफ पंजाब सरकार ने तगड़ी पैरवी की। इससे दुखी होकर कृष्णानंद राय की पत्नी अलका राय ने प्रियंका गांधी को कई बार चिट्ठी लिखी। अलका ने अपने पत्र में लिखा, ‘मैं एक विधवा हूं, मुझे लगता था कि एक महिला होने के नाते आप मेरे दर्द को समझेंगी, लेकिन आपने मेरे किसी भी चिट्ठी का जवाब के उलट मुख्तार अंसारी को बचाने के लिए लाखों रुपये के वकील सुप्रीमकोर्ट में जरूर खड़े कर दिए। मेरे साथ जो हुआ या जो घटित हो रहा है, वह अगर आपके साथ हुआ होता तो दर्द का एहसास होता।

 

loading...

Check Also

वैक्सीन लगाने को लेकर आपस में भिड़ गईं महिलाएं, जमकर हुई मारपीट, वीडियो वायरल

खरगोन एमपी के खरगोन जिले में वैक्सीन को लेकर जबरदस्त मारामारी (People Crowd For Vaccine) ...