Saturday , September 18 2021
Breaking News
Home / क्राइम / दिल्ली: ‘दृश्यम’ फिल्म देखकर रच डाली खुद की हत्या की साजिश, लेकिन ऐसे पकड़ा गया

दिल्ली: ‘दृश्यम’ फिल्म देखकर रच डाली खुद की हत्या की साजिश, लेकिन ऐसे पकड़ा गया

नई दिल्ली: दिल्ली के मजनू टीला इलाके में करीब 1 सप्ताह पहले 29 जून को एक शख्स ने खुद पर गोली से जानलेवा हमले की कहानी रची, जो पड़ताल करने पर झूठी निकली. मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने दावा किया कि बॉलीवुड एक्टर अजय देवगन अभिनीत फिल्म दृश्यम देखकर घटना को अंजाम देने की पठकथा लिखी गई.

रंजिश की पठकथा लिखने वाले शख्स का नाम अमरपाल है, ताकि घटना में उसका पड़ोसी फंस जाए और जेल चला जाए. लेकिन झूठी कहानी को सच बनाने के लिए अमरपाल ने चश्मदीद के तौर पर अपने भाई, चचेरे भाई और उसके साले को इस फिल्मी कहानी में शामिल किया. लेकिन कहानी भी हकीकत नहीं बन पाई. पुलिस ने पड़ताल करते हुए पूरे मामले का खुलासा किया है.

उत्तरी जिले के डीसीपी ने बताया कि पुलिस ने आरोपी के चचेरे भाई को गिरफ्तार कर लिया है. जिसकी पहचान अनिल के तौर पर हुई है और अमरपाल का भाई गुड्डू व अनिल का साला मनीष फरार है. अमरपाल पड़ोसी की मां की हत्या के मामले में जेल में बंद था. साल 2019 में झगड़े के बाद अमरपाल व उसके परिजनों ने महिला की हत्या की थी.

इस मामले में अमरपाल की मां समेत परिवार के कुल 9 लोग जेल में बंद थे. अमरपाल ने जेल में ही पड़ोसी को फंसाने की साजिश रची और उसकी पूरी पटकथा भी तैयार कर दी. एक महीने पहले जेल से बाहर आने के बाद उसने अपने पड़ोसी को फंसाने के लिए प्लान में कमियों को दूर किया और वारदात में इस्तेमाल हत्यार भी पुलिस टीम द्वारा बरामद कर लिया गया है.

29 जून को अमरपाल के बयान के आधार पर सिविल लाइन पुलिस टीम ने हत्या की कोशिश का मामला दर्ज किया था. जिसमें अमरपाल ने पुलिस को बताया था कि वह मजनू टीला इलाके में रात को टहल रहा था. उसी दौरान उसके पड़ोसी ओमवीर और उसके लड़कों ने गोली मार कर उसकी हत्या करने की कोशिश की लेकिन वह बच गया.

पुलिस टीम को अमरपाल के बयान पर शक हुआ और पुलिस टीम ने टेक्निकल सर्विलांस की मदद से अमरपाल के चचेरे भाई को पकड़ लिया. फिर खुद-ब-खुद सामने आता चला गया. पुलिस टीम को पड़ताल के दौरान यह भी पता चला कि अमरपाल गवाहों को तोड़ने और परिवार को जेल से निकालने के लिए पैरोल पर बाहर आया था. उसने मामले में शामिल गवाहों को भी तोड़ने की कोशिश की थी लेकिन वह कामयाब नहीं हो सका.

इसके बाद अमरपाल ने अजय देवगन अभिनीत दृश्यम फिल्म देखकर ओमवीर के परिवार को फंसाने की योजना बनाई. इसमें अमरपाल ने अपने भाई चचेरे भाई अनिल और अनिल के साले मनीष को भी शामिल किया. इसके बाद अमरपाल ने अपने दोस्तों में झूठी अफवाह फैलाई की ओमवीर और उसके लड़के बदला लेने के लिए उसका पीछा करते हैं.

अमरपाल दोस्तों को उसकी बात पर यकीन हो गया और इस झूठ के बाद प्लानिंग के अनुरूप 29 जून को अनिल, गुड्डू और मनीष खैबरपास पर पहुंचे और अमरपाल के कहने के बाद उस पर छर्रे वाली गोलियां चला दीं. जिसके बाद अमरपाल घायल अवस्था में अपने दोस्तों के पास पहुंचा और उसने पूरी वारदात को ओमवीर की ओर मोड़ दिया. घटना के एक हफ्ते बाद भr अमरपाल अस्पताल में भर्ती है और पुलिस टीम बाकी आरोपियों की तलाश कर रही है जो इस घटना में शामिल हैं.

loading...

Check Also

Petrol Diesel Price: पेट्रोल-डीजल सस्ता हुआ या महंगा, फटाफट चेक करें अपने शहर में आज के नए रेट

यूपी में आज रविवार को पेट्रोल-डीजल (Petrol Diesel Price) के दाम जारी कर दिए गए ...