Saturday , September 25 2021
Breaking News
Home / खबर / शर्मनाक: नसबंदी कराने आई महिलाओं को पुरुष रोगियों के साथ लेटा दिया सरकारी अस्पताल

शर्मनाक: नसबंदी कराने आई महिलाओं को पुरुष रोगियों के साथ लेटा दिया सरकारी अस्पताल

झुंझुनू. कोरोना संक्रमण से बचने के लिए सोशल डिस्टेंस रखने की हिदायत देने वाला चिकित्सा विभाग स्वयं अपने यहां इन निर्देशों की पालना करवा पाने में विफल हो रहा है। अव्यस्था से जुड़ी तस्वीर शनिवार को 75 बैड की सुविधा वाले चिड़ावा राजकीय अस्पताल में देखने को मिली। जहां साप्ताहिक कैंप में नसबंदी ऑपरेशन करवाने के बाद महिलाओं को संक्रमण से बचाने के लिए दो गज दूरी की बात छोड़िए बेहोशी की हालत में आराम के लिए बैड तक नही मिले।

इसके कारण एक बैड पर दो-दो महिलाओं को लेटना पड़ा। यही नही बल्कि कुछेक महिलाओं को तो मेल वार्ड में पहले से भर्ती पुरुष रोगी के पास और बरामदे बैंच पर भी लेटना पड़ा। यह स्थिति दोपहर दो बजे तक बनी रही। अस्पताल भवन के ठीक ऊपर बीसीएमओ कार्यालय होने के बावजूद ऑपरेशन करवाने वाली महिलाओं की सुध लेने के लिए सीएचसी -कैम्प प्रभारी व कोई चिकित्साधिकारी मौजूद नही था।

इसके कारण महिलाओं के साथ आए परिजन बैड मांगने के लिए इधर-उधर भटकते रहे। अस्पताल में कोविड के दूसरे दौर में लॉक डाउन छूट के बाद यह तीसरा कैम्प था, जिसमे 22 महिलाओं के नशबंदी ऑपरेशन हुए। गौरतलब है कि सीएचसी में हर बुधवार व शनिवार को परिवार नियोजन के लिए नसबंदी शिविर लगते हैं।

भीड़ बढ़ी तो पुरुषों के वार्ड में ही लेटाया

कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए शासन-प्रशासन की ओर से कई प्रतिबंध लगे हुए हैं। जिनमे मंदिरों-दरगाह में दर्शन-जियारत करने वालों को अनिवार्य रूप से कोरोना रोधक पहली वैक्सीन लगवाने का प्रमाण दिखाना शामिल है। लेकिन अचरज की बात है कि चिकित्सा विभाग के नशबंदी शिविरों में इसकी अनिवार्यता नहीं है।

बीसीएमओ डॉ. संत कुमार जांगिड़ का कहना है कि लक्षण प्रतीत होने पर चिकित्सकीय टीम नशबंदी ऑपरेशन करवाने वाली महिला-पुरुष का मौके पर ही आरटी-पीसीआर टेस्ट कर सकते हैं जिसकी रिपोर्ट 15-20 मिनट में मिल जाती है।

स्थान की कमी के कारण ऐसा हुआ, आगे ध्यान रखेंगे

शनिवार को सीएचसी में लगे परिवार नियोजन शिविर में नसबंदी करवाने वाली महिलाओं को बेड नहीं मिलने के मामले में बीसीएमओ डॉ. संत कुमार जांगिड़ ने कहा कि अस्पताल में स्थान की कमी के कारण ऐसा हुआ। उन्होंने कहा कि अगले कैम्प में ऑपरेशन के लिए 15 लोगों का ही पंजीकरण करवाएंगे। यानी आगे इस बात का ध्यान रखा जाएगा कि बेड की कमी से एक ही बेड पर दो-दो को लेटाना नहीं पड़े।

loading...

Check Also

पंजाब के नए मुख्यमंत्री का भांगड़ा वाला वीडियो हुआ वायरल तो एक्ट्रेस स्वरा का यूं आया रिएक्शन

नई दिल्ली :  पंजाब के नए मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी का एक वीडियो सोशल मीडिया ...