Saturday , November 27 2021
Home / ऑफबीट / वायरल पड़ताल: कोरोना के 20 हजार मरीज मारेगी चीन सरकार !

वायरल पड़ताल: कोरोना के 20 हजार मरीज मारेगी चीन सरकार !

सोशल मीडिया पर किसी फोटो और वीडियो के साथ छेड़छाड़ कर उसे वायरल किया जाता रहता है। वहीं किसी पुरानी फोटो और वीडियो को नया बताकर भी उसे शेयर किया जाता है। कई बार सच्चाई कोसों दूर होती है, लेकिन सोशल मीडिया पर लोग बिना सच जाने उसे वायरल करते रहते हैं। चीन में फैले कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया पर एक तस्वीर फिर वायरल हो रही है। तस्वीर को लेकर दावा किया गया है कि चीन की सरकार ने कोरोना वायरस से संक्रमित 20 हजार लोगों को मारने के लिए अदालत से मंजूरी मांगी है, ताकि वायरस से होने वाले संक्रमण को रोका जा सके।

यह है वायरल पोस्ट में

फेसबुक यूजर संजय यादव ने एक न्यूज रिपोर्ट को शेयर करते हुए लिखा है कि वामपंथी हकीकत… चीन में कोरोना वायरस ग्रस्त 20 हजार लोगों को इलाज की जगह गोली से मार कर उन्हें जलाने की इजाजत मांगी। ताकि इनसे दूसरों में इंफेक्शन न फैले। न कोई मानवाधिकार वाला चिल्लाया, न असहिष्णु बोला… यही वामपंथ का इतिहास है… मास किलिंग जेनोसाइड इनका इतिहास रहा है, आज भी है।” ऐसा ही सोशल मीडिया पर कई अन्य यूजर्स ने इस रिपोर्ट को समान और मिलते-जुलते दावे के साथ शेयर किया है। वहीं ट्विटर पर भी कई यूजर्स ने ऐसी पोस्ट शेयर की है। यह पहले भी वायरल हुई थी।

वायरल पोस्ट की जांच

वायरल पोस्ट में जिस न्यूज रिपोर्ट का इस्तेमाल किया गया है, उसे सिटी न्यूज की वेबसाइट से लिया गया है। 6 फरवरी 2020 को प्रकाशित इस रिपोर्ट को देखा जा सकता है। अंग्रेजी में लिखी इस रिपोर्ट को पढऩे के बाद हमें कई जगह व्याकरण और वर्तनी की गलतियां नजर आईं, जो किसी न्यूज रिपोर्ट में नहीं मिलती हैं। सर्च में हमें पता चला कि यह वेबसाइट पहले भी कई फर्जी रिपोर्ट को प्रकाशित कर चुका है। वर्ष 2019 में इस वेबसाइट ने कोरोना वायरस को लेकर भ्रामक खबर प्रकाशित की थी, जिस पर सिंगापुर की सरकार को सफाई जारी करनी पड़ी थी। सिंगापुर सरकार की वेबसाइट पर 30 जनवरी 2020 को प्रकाशित खंडन को देखा जा सकता है।

न्यूज रिपोर्ट में हमें ऐसी कोई विश्वसनीय वेबसाइट की रिपोर्ट नहीं मिली, जिसमें इस खबर का जिक्र किया गया हो। यह ऑनलाइन फैलाई जा रही खबर है, जो पूरी तरह से झूठ है। चीन में स्थिति बेहद गंभीर है, लेकिन स्थिति धीरे-धीरे सामान्य हो रही है। चीन सरकार पूरी ताकत से इस वायरस के संक्रमण को रोकने में जुटी हुई है। लोगों को इस तरह की फर्जी खबरें नहीं फैलानी चाहिए।

खबर की हकीकत

चीन में कोरोना वायरस से संक्रमित 20 हजार लोगों को मारे जाने के लिए चीनी सरकार का अदालत से मंजूरी मांगे जाने के दावे के साथ वायरल हो रही खबर झूठी है। हमारी फैक्ट चैक टीम ने दावे की जांच की तो पता चला कि यह एक वेबसाइट की ओर से चलाई गई फर्जी खबर के कारण सोशल मीडिया पर न्यूज वायरल हुई। यह वेबसाइट पहले भी फर्जी खबरें प्रकाशित कर चुकी है।

खबर स्रोत- पत्रिका डॉट कॉम

loading...

Check Also

बर्फीले इलाकों में पाए जाने वाले काले सफेद पक्षी पेंग्विन हो सकते हैं एलियंस !

-मिले दूसरे ग्रह से ‘कनेक्शन’ के सबूत लंदन । धरती पर बर्फीले इलाकों में पाए ...