Sunday , June 13 2021
Breaking News
Home / क्राइम / ‘लॉकडाउन वाला डॉन’ हुआ गिरफ्तार, बोलता था डॉन वाला फिल्मी डायलॉग

‘लॉकडाउन वाला डॉन’ हुआ गिरफ्तार, बोलता था डॉन वाला फिल्मी डायलॉग

ग्वालियर/ मध्य प्रदेश के ग्वालियर में लगे लॉकडाउन के दौरान 3 दिनों के भीतर 2 मर्डर करके खुद को डॉन समझने वाले बदमाश को आखिरकार पुलिस ने बुधवार को घेराबंधी करके दबोच लिया। आरोपी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज होने से पहले भी हत्या के प्रयास, लूट, चोरी समेत 20 से अधिक मामले दर्ज हैं। बताया जा रहा है कि, आरोपी अकसर लोगों को अमिताभ बच्चन की फिल्म डॉन के डॉयलाग मारा करता था। कहता था- ‘डॉन को पकड़ना मुश्किल नहीं… नामुमकिन है।’ पुलिस ने उसके इसी चैलेज को चुनौती मानते हुए 10 हजार रुपए इनाम घोषित किया, इसपर पुलिस को पता लगा कि, आरोपी एक बार फिर किसी वारदात को अंजाम देने की नियत से आ रहा है। इसपर पुलिस ने बदमाश को वारदात को अंजाम देने से पहले ही घेराबंदी कर दबोच लिया।

क्राइम ब्रांच ने घेराबंदी कर दबोचा

आरोपी के खिलाफ क्राइम ब्रांच थाना प्रभारी सब इंस्पेक्टर पप्पू यादव को सूचना मिली थी। प्राप्त सूचना के मुताबिक, अप्रैल में पनिहार और माधवगंज में तीन दिन में दो हत्याएं करने वाला हिस्ट्रीशीटर राकेश वाल्मीकि निवासी गुड़ा गुड़ी का नाका, शहर में फिर किसी वारदात को अंजाम देने आ रहा है। इसपर उन्होंने क्राइम ब्रांच DSP विजय सिंह को सूचित किया और एक टीम नियुक्त करके बदमाश की घेराबंदी की और उसे दबोच लिया।

आरोपी ने कबूल किये जुर्म

बता दें कि, पुलिस ने बदमाश को उसी के घर के नजदीक घेराबंदी कर दबोचा है। पुलिस को बदमाश के पास से 315 बोर का एक कट्‌टा समेत दो कारतूस बरामद हुए हैं। पकड़े जाने के बाद उसे क्राइम ब्रांच थाना लेकर आया गया, जहां पूछताछ के दौरान उसने न सिर्फ अपराध को अंजाम देने जान कबूल किया, साथ ही ये भी कबूल किया कि, लॉकडाउन के दौरान उसने दो अन्य हत्याएं भी की हैं। फिलहाल, पुलिस आरोपी से अन्य वारदातों के संबंध में भी पूछताछ कर रही है।

3 दिन में की थीं 2 हत्याएं

राकेश वाल्मीकि ने 14 अप्रैल 2021 को पनिहार के शालू पुरा इलाके में गोपाल कुशवाह से विवाद हुआ था, इसपर आरोपी ने उसकी गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद आरोपी पर 5 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया था। हत्या के मामले में पुलिस उसे तलाश ही रही थी कि, तीन दिन बाद यानी 17 अप्रैल 2021 को माधवगंज गुढ़ा तलैया के पास कर्फ्यू के दौरान घर के बाहर बैठे दिव्यांग विनोद कुमार कुशवाह की गोली मारकर हत्या कर दी थी। हत्या से पहले उसने दिव्यांग और ताश खेल रहे उसके साथियों से पैसे और सामान लूटने का प्रयास किया था। विरोध करने पर आरोपी ने विनोद को गोली मार दी थी।

आरोपी पर दर्ज हैं ये मामले

पुलिस गिरफ्त में आए आरोपी राकेश वाल्मीकि को पसंद था कि, लोग उसे डॉन कहकर पुकारें। फिलहाल, पुलिस गिरफ्त में आने के बाद उसके खिलाफ हत्या के दो मामले, हत्या के प्रयास के 4, लूट के 2, चोरी के 6, आर्म्स एक्ट के 4 मामलों समेत 20 से ज्यादा अपराध पंजीबद्ध हैं।

loading...
loading...

Check Also

करगिल विजय की कहानी: आज ही मिली थी पहली जीत, तोलोलिंग चोटी पर लहराया तिरंगा

आज से 22 साल पहले करगिल युद्ध लड़ा गया था। करगिल युद्ध में सबसे पहली ...