Friday , July 30 2021
Breaking News
Home / खबर / रविशंकर प्रसाद के इस्तीफे पर बोले पूर्व IAS- नीली चिड़िया के पर कतरने वाले खुद के ‘पर’ कतरवा बैठे

रविशंकर प्रसाद के इस्तीफे पर बोले पूर्व IAS- नीली चिड़िया के पर कतरने वाले खुद के ‘पर’ कतरवा बैठे

बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी के कैबिनेट के विस्तार के सिलसिले में कैबिनेट के तमाम नेताओं का सुबह से ही इस्तीफे देने का दौर चला। इसी कड़ी में चौकाने वाले 2 नाम थे– प्रकाश जावड़ेकर और रविशंकर प्रसाद। दोनों ही 2019 में बनी मोदी सरकार के बड़े नेता और तीन-तीन मंत्रालयों को संभाल रहे थे।

बुधवार सुबह से ही भाजपा के कई सांसदों को मंत्रालयों की गद्दी से उतारा जा रहा है। बहुत से नामों को लेकर पहले से अंदाजा भी था। लेकिन रविशंकर प्रसाद और प्रकाश जावड़ेकर के इस्तीफे से सभी अचंभित हैं।

बिहार राज्य का प्रतिनिधित्व करने वाले रविशंकर प्रसाद सरकार के तीन अहम मंत्रालयों को प्रमुख थे – कानून एवं न्यासय मंत्रालय ; संचार मंत्रालय ; इलेक्ट्रॉ निक्स् एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय।

इन तीनों ही मंत्रालयों की देश के विकास में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होती है। ये वही रविशंकर प्रसाद हैं जिनके अकाउंट को कुछ दिन पहले अमेरिकी सोशल मीडिया कंपनी ट्विटर के कुछ देर के लिए बंद कर दिया था।

ट्विटर ने ऐसा करने के लिए कारण बताया था कि रविशंकर प्रसाद ने कॉपीराइट कानूनों का उल्लंघन किया है।

माना जा रहा है कि न्यायिक व्यवस्था को लेकर भी कहीं ना कहीं बार बार विवाद उठ रहे थे। इसलिए न्याय और विधि मंत्रालय को दूसरे नेता की जरूरत थी, जिसे पूरा करने के लिए रविशंकर प्रसाद को हटा कर एक नया चेहरा लाया जाएगा।

दूसरी तरफ महाराष्ट्र के पुणे से आने वाले प्रकाश जावड़ेकर पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन और सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के प्रमुख थे। प्रकाश जावड़ेकर के नाम पर पहले से ही कयास लगाए जा रहे थे। थावरचंद गहलोत के बाद जिन अन्य मंत्रियों के साथ बैठक बुलायी गयी थी उनमें प्रकाश जावड़ेकर भी शामिल थे।

रविशंकर प्रसाद के इस्तीफे पर पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने ट्वीट कर लिखा- “सुना है नीली चिड़िया के पर कतरने का दावा करने वालों के ही पर कतर दिए गए?

loading...

Check Also

‘मेंहदी लगा के रखना..’ गाने के अंग्रेजी वर्जन ने ‘देसी गर्ल’ को खूब हंसाया, आप भी देखें VIDEO

फिल्म ‘दिलवाले दुल्हनियां ले जाएंगे’ का खुमार अभी तक लोगों के सर चढ़कर बोलता है. ...