Saturday , July 24 2021
Breaking News
Home / खबर / ..ताकि खाली न रहे सिंहासन: विक्रमादित्य सिंह का हुआ विधि-विधान के साथ राजतिलक

..ताकि खाली न रहे सिंहासन: विक्रमादित्य सिंह का हुआ विधि-विधान के साथ राजतिलक

रामपुर/शिमला: पूर्व मुख्यमंत्री राजा वीरभद्र सिंह के अंतिम संस्कार से पहले विक्रमादित्य सिंह का राजतिलक किया गया. हिमाचल के छह बार मुख्यमंत्री रहे वीरभद्र सिंह का 13 वर्ष की उम्र में बुशहर रियासत के 122वें राजा के रूप में राजतिलक हुआ था. रामपुर रियासत में यह प्रथा रही है कि राजा का अंतिम संस्कार तब तक नहीं होता, जब तक अगले उत्तराधिकारी का राजतिलक न हो, क्योंकि राज गद्दी को खाली नहीं छोड़ा जाता.

वीरभद्र के अंतिम संस्कार से पहले पुरानी परंपराओं का निर्वहन करते हुए विक्रमादित्य सिंह का राज महल में राजगद्दी पर राजतिलक किया गया. हिमाचल प्रदेश ब्राह्मण सभा के सलाहकार पुज्या देव शर्मा ने बताया मंत्रोच्चारण के बीच विक्रमादित्य सिंह का विधि-विधान के साथ राजतिलक किया गया. राजतिलक के दौरान सारी प्रक्रियाओं को गुप्त रखा गया. सारे कार्यक्रम होने के बाद इसकी घोषणा की गई.

राजपुरोहित द्वारा राजतिलक मंत्रों का उच्चारण किया गया. मंत्रों द्वारा शक्ति प्रदान की गई, उसके बाद बाहर चार ठहरी का बाज बजाया गया, फिर जयकारा लगाया गया. विक्रमादित्य सिंह के राजतिलक के दौरान 4 ठहरी यानी शिंगला, शनेरी, लालसा और डंसा के वाद्य यंत्रों को बजाया गया.

loading...

Check Also

वैक्सीन लगाने को लेकर आपस में भिड़ गईं महिलाएं, जमकर हुई मारपीट, वीडियो वायरल

खरगोन एमपी के खरगोन जिले में वैक्सीन को लेकर जबरदस्त मारामारी (People Crowd For Vaccine) ...