Saturday , October 16 2021
Breaking News
Home / खबर / टॉस उछालकर पोस्टिंग, हाथी की सवारी, महिला अफसर को अश्लील मैसेज.. विवादों में खूब रहे पंजाब के नए CM

टॉस उछालकर पोस्टिंग, हाथी की सवारी, महिला अफसर को अश्लील मैसेज.. विवादों में खूब रहे पंजाब के नए CM

पोस्टिंग का फैसला टॉस से करने के लिए सिक्का उछालते चरणजीत चन्नी।

पंजाब के नए सिख दलित CM चरणजीत सिंह चन्नी का विवादों से पुराना नाता रहा है। रविवार को उन्हें पंजाब का नया CM बनाने की घोषणा हुई, जिसके बाद पुराने विवाद और उनसे जुड़े चर्चित किस्से भी सामने आ गए। टॉस के जरिए पोस्टिंग देना हो या फिर एक महिला IAS अफसर को आपत्तिजनक मैसेज भेज MeToo मामले में फंसना, सारे किस्से सोशल मीडिया पर सुर्खियों में हैं। चन्नी का पंजाब विधानसभा में एक चर्चित बयान भी खूब शेयर हो रहा है, जिसमें चन्नी ने पंजाब विधानसभा में कैप्टन सरकार के विकास के बारे में पूछे जाने पर सड़कों के पैचवर्क की बात कह दी थी।

जानिए चन्नी से जुड़े विवाद-

टॉस उछालकर पोस्टिंग : चरणजीत चन्नी जब तकनीकी शिक्षा मंत्री थे तो 3 साल पहले पॉलिटेक्निक इंस्टिट्यूट में भर्ती की गई थी। लेक्चरर के दो आवेदक एक ही जगह पर पोस्टिंग चाहते थे। उस वक्त चन्नी ने टॉस किया और जिसका टेल आया, उसे मन मर्जी वाली जगह पोस्टिंग मिल गई।

IAS अफसर को मैसेज : साल 2018 में चन्नी पर एक महिला IAS अफसर को आपत्तिजनक मैसेज भेजने का आरोप लगा। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने चन्नी को माफी मांगने को कहा। कैप्टन ने कहा था कि इसके बाद मामला खत्म हो गया है। हालांकि इसी साल मई में अचानक यह मामला फिर उठा। पंजाब महिला आयोग की अध्यक्ष मनीषा गुलाटी ने चेतावनी दी कि चन्नी पर कार्रवाई न हुई तो वे अनशन पर बैठ जाएंगी।

ग्रीन बेल्ट तोड़ सड़क बना दी : 2018 में चन्नी जब मंत्री बने तो ज्योतिषी की सलाह पर उन्होंने सरकारी घर का नक्शा बदल दिया। राजनीति में कामयाबी के लिए चन्नी ने चंडीगढ़ स्थित घर में एंट्री की दिशा पूर्व की तरफ कर दी। इसके लिए उन्होंने ग्रीन बेल्ट तुड़वाकर सड़क बनवा दी। हालांकि चंडीगढ़ प्रशासन ने फिर सड़क हटा ग्रीन बेल्ट बना दिया।

हाथी की सवारी : राजनीति में कामयाबी के लिए चन्नी ने खरड़ स्थित अपने घर में हाथी की सवारी की। तब यह बात सामने आई कि किसी ज्योतिषी ने उन्हें कहा कि अगर वह ऐसा करते हैं तो पंजाब के CM बन सकते हैं।

पैचवर्क का बयान : चन्नी कुछ वक्त पंजाब विधानसभा में विपक्ष के नेता भी रहे। उस वक्त अकाली-भाजपा सरकार थी। सुखबीर बादल डिप्टी सीएम थे। सुखबीर ने विधानसभा में चन्नी से पूछा कि वे 2002 से 2007 के बीच कैप्टन सरकार का एक विकास कार्य बताएं। इस पर चन्नी कह बैठे कि कैप्टन साहब ने पूरे पंजाब की सड़कों पर पैचवर्क कराएं हैं।

Phd एंट्रेंस पास नहीं कर पाए : चन्नी ने 2017 में इंडियन नेशनल कांग्रेस पर Phd के लिए एंट्रेंस दिया था। उस वक्त यह आरोप लगा कि चन्नी को फायदा मिल सके, इसके लिए पंजाब यूनिवर्सिटी ने SC/ST उम्मीदवारों के लिए नियमों में छूट दी। हालांकि वे एंट्रेंस पास नहीं कर सके थे।

loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...