Thursday , October 28 2021
Breaking News
Home / मनोरंजन / शाहरुख खान को बेटा क्यों मानते हैं दिलीप साहब, सायरा बानो ने खोल दिया राज

शाहरुख खान को बेटा क्यों मानते हैं दिलीप साहब, सायरा बानो ने खोल दिया राज

11 दिसंबर 1922 को मौजूदा पाकिस्तान के पेशावर शहर में जन्मे मोहम्मद यूसुफ खान उर्फ़ दिलीप कुमार का रिश्ता बॉलीवुड के किंग खान शाहरुख से बेहद खास है. शाहरुख़ खान का एक अलग ही रुतबा दिलीप साहेब के घर पर होता है. दिलीप कुमार और उनकी पत्नी सायरा बानो शाहरुख़ को बिलकुल अपने बेटे की तरह ट्रीट करते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि इसके पीछे एक इमोशनल वजह छुपी हुई है। खुद सायरा ने एक इंटरव्यू के दौरान इस बात का खुलासा किया था. सायरा बानो ने कहा था- अगर हमारा अपना खुद का बेटा होता तो बिलकुल शाहरुख की तरह होता.

सायरा बानो ने 2017 में एक इंटरव्यू के दौरान शाहरुख से पहली मुलाकात के बारे में बताया था। उनकी मानें तो जब शाहरुख ने पहली फिल्म ‘दिल आशना है’ साइन की थी, तब उनकी उनसे पहली मुलाकात हुई थी। बकौल सायरा, “हम फिल्म के मुहूर्त के लिए जा रहे थे. मैं हमेशा कहती हूं कि अगर हमारा अपना बेटा होता तो बिल्कुल शाहरुख की तरह दिखाई देता. दोनों शाहरुख और दिलीप साहब के बाल एक जैसे हैं और इन दोनों का बोल चल और व्यवहार भी एक दूसरे से काफी मिलते है.

यही वजह है कि जब भी मैं शाहरुख से मिलती हूं तो उनके बालों में उंगली फिराती हूं. जब हाल ही में वे साहब को देखने आए तो उन्होंने पूछा- आज आप मेरे बालों में हाथ नहीं लगा रही हैं. उनकी यह बात सुन मुझे बहुत ख़ुशी हुई होती थी.

कुछ सालो पहले एक इंटरव्यू के दौरान शाहरुख खान ने बताया था कि वे बचपन से ही दिलीप साहब को जानते हैं। बकौल शाहरुख, “दरअसल, मेरे पिता उन्हें जानते थे। दोनों दिल्ली की एक ही गली में रहते थे। बचपन में मैं दिलीप साहब से कई बार मिला. हम अक्सर उनके घर जाते थे। सायराजी को याद नहीं, लेकिन लंदन से उनकी दवाइयां मेरी आंटी ही भेजती थीं. सालों बाद जब मैं केतन मेहता के साथ काम कर रहा था तो उनके ऑफिस में मुझे दिलीप कुमार की फोटो दिखी.

मैंने कहा- अरे ये तो मैं ही हूं। फोटो में वे काफी हदतक मेरे जैसे ही दिख रहे थे या यूं कहूं कि मैं उनकी तरह दिख रहा था, लेकिन दिलीप साहब के साथ मेरा रिश्ता इससे कहीं बढ़कर है। दिलीप साहब और सायराजी ने हमेशा मुझे अपने बेटे की तरह ट्रीट किया है.

बॉलीवुड के लिजेंड अभिनेता के तौर पर पहचाने जाने वाले दिलीप कुमार आखिरकार पिता क्यों नहीं बन सके, इसका जवाब दिलीप साहेब ने अपनी ऑटोबायोग्राफी ‘द सबस्टांस एंड द शैडो’ में दिया है. बुक में दिलीप कुमार ने कहा है, “सच्चाई यह है कि 1972 में सायरा पहली बार प्रेग्नेंट हुईं. यह बेटा था (हमें बाद में पता चला)। 8 महीने की प्रेग्नेंसी में सायरा को ब्लड प्रेशर की शिकायत हुई. इस दौरान पूर्ण रूप से विकसित हो चुके भ्रूण को बचाने के लिए सर्जरी करना संभव नहीं था और दम घुटने से बच्चे की मौत हो गई. दिलीप कुमार की मानें तो इस घटना के बाद सायरा कभी प्रेग्नेंट नहीं हो सकीं. दिलीप साहेब और सायरा को इस घटना से काफी दुःख हुआ और आज भी उन्हें इस बात का मलाल है..

loading...

Check Also

‘रामायण’ में लंकेश का किरदार निभाने वाले अरविंद त्रिवेदी नहीं रहे

– बीजेपी के टिकट पर सांसद बने थे अरविंद त्रिवेदी नई दिल्ली  । रामानंद सागर ...