सरकारी योजना : सरकार देगी आपकी बेटी को 10 लाख रुपये 1 लाख 43 हजार ऐसे उठा सकते हैं फायदा

सरकारी योजना: सरकार द्वारा चलाई जा रही कई सरकारी योजनाएं हैं, जिनमें लड़कियों की पढ़ाई से लेकर शादी तक की आर्थिक मदद की जाती है। ऐसी ही एक योजना लड़कियों की मदद करती है। इस योजना में आवेदन करने पर सरकार द्वारा लड़कियों को 1 लाख रुपये से अधिक की राशि दी जाती है। यह राशि सीधे बेटी के बैंक खाते में जमा की जाती है।

इस योजना के तहत यह राशि बेटियों के खाते में 5 किश्तों में जमा की जाती है। योजना के तहत पांच किश्तों में 1.43 लाख रुपये की राशि दी जाती है। अगर कोई व्यक्ति इस योजना का लाभ उठाना चाहता है तो उसके पास कुछ जरूरी दस्तावेज होने चाहिए। इन दस्तावेजों के साथ करना होगा आवेदन

योजना के तहत आपको कितनी बार लाभ मिलेगा

इस योजना के तहत बेटियों के जन्म के बाद सरकार 5 साल के लिए निवेश योजना में प्रत्येक को 6,000 रुपये जमा करती है। ऐसे में उस कोष में पांच साल में 30 हजार रुपये जमा होते हैं। उसके बाद 6वीं कक्षा में प्रवेश के दौरान 6000 रुपये खाते में भेज दिए जाते हैं। इसके बाद 9वीं कक्षा में खाते में 4 हजार रुपए ट्रांसफर किए जाते हैं।

कौन लाभ उठा सकता है

11वीं कक्षा में प्रवेश लेते समय 6000 रुपये की राशि दी जाती है। अंतिम किस्त की बात करें तो 12वीं में 6 हजार रुपये की राशि दी जाती है। इस योजना के तहत बेटियों को 21 वर्ष की आयु प्राप्त करने पर एक लाख रुपये की राशि दी जाती है। यह योजना मध्य प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जाती है, जिसका नाम लाड़ली लक्ष्मी योजना है। यह लाभ मध्य प्रदेश के निवासियों को ही दिया जाता है।

योजना में आवेदन कैसे करें

योजना के तहत आवेदन करने के लिए आपके पास आधार कार्ड, आय प्रमाण पत्र, पता प्रमाण और अन्य दस्तावेज होने चाहिए। इन दस्तावेजों के साथ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को लाड़ली लक्ष्मी योजना के तहत फार्म भरकर जमा करना होगा। ladlilaxmi.mp.gov.in पर जाकर फॉर्म डाउनलोड कर सकते हैं। पूर्ण दस्तावेज प्रस्तुत नहीं करने पर आवेदन निरस्त किया जा सकता है।

नए साल में बढ़ेगी पीपीएफ, सुकन्या समृद्धि और केवीपी योजनाओं की ब्याज दर, जानिए कितनी बढ़ेगी!

पोस्ट ऑफिस में निवेश करने वाले लोगों को जल्द ही खुशखबरी मिल सकती है। सरकार इस महीने के अंत तक छोटी बचत योजना के तहत आने वाली पब्लिक प्रॉविडेंट फंड, सीनियर सिटीजन स्कीम, सुकन्या समृद्धि योजना, एनएससी और केवीपी आदि सरकारी योजनाओं पर ब्याज बढ़ा सकती है। सरकार ने लंबे समय से इन छोटी बचत योजनाओं में कोई बदलाव नहीं किया है। ऐसे में सरकार इन छोटी बचत योजनाओं के ब्याज में संशोधन कर सकती है।