Sunday , May 16 2021
Breaking News
Home / खबर / रिश्तों की मौत : संक्रमित पिता को बीच सड़क पर छोड़ भागा बेटा, हॉस्पिटल तो पहुंचे लेकिन..

रिश्तों की मौत : संक्रमित पिता को बीच सड़क पर छोड़ भागा बेटा, हॉस्पिटल तो पहुंचे लेकिन..

देश और दुनिया में लाखों लोगों को मार चुका कोरोना वायरस अब रिश्तों के ताने-बाने को भी खत्म करने लगा है। इसका एक नमूना बिहार के मुजफ्फपुर की यह खबर है। यहां एक बेटा अपने बीमार पिता को सड़क पर छोड़ दिया। पिता कोरोना से संक्रमित थे। लोगों ने हॉस्पिटल ले जाने के लिए कहा तो बेटा उन्हें घर से लेकर तो आ गया, लेकिन रास्ते में छोड़कर चला गया। कुछ देर बाद पिता की मौत हो गई।

मुजफ्फरपुर टाउन के दमुचक में रहने वाले अर्जुन ओझा दो दिन पहले कोरोना पॉजिटिव हो गए थे। मोहल्ले वालों ने इलाज के लिए दबाव बनाया तो उनके पेशे से सरकारी टीचर बेटे ने ऐंबुलेंस मंगाकर उन्हें सदर अस्पताल भेज दिया। साथ में अर्जुन की पत्नी भी थीं। पीछे से बेटा और बहू अस्पताल के लिए निकले। रास्ते में दोनों बहाना बनाकर माता-पिता को छोड़कर भाग निकले। ऐंबुलेंस ड्राइवर ने यह देखा तो वह भी अर्जुन को सड़क पर उतारकर चलता बना।

वीडियो वायरल हुआ तो जिला प्रशासन को लगी खबर
सड़क पर तड़प रहे अर्जुन ओझा का किसी ने वीडियो बना लिया। कुछ ही देर में यह वीडियो वायरल हो गया। इसके बाद किसी ने मुजफ्फरपुर DM को सूचना दी। इसके बाद DM के आदेश पर अर्जुन ओझा को सड़क से उठाकर सदर अस्पताल भेजा गया।

अर्जुन की हालत खराब होती देख सदर अस्पताल के स्टाफ ने उन्हें श्रीकृष्णा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (SKMCH) रेफर कर दिया। इसकी कागजी प्रक्रिया पूरी होने में दोपहर से शाम हो गई। अर्जुन ने SKMCH पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया।

दो दिन पहले रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी
अर्जुन ओझा के पास मौजूद उनकी पत्नी ने बताया कि उनके दो बेटे हैं। एक सरकारी टीचर है। हावड़ा में भी उनका मकान है। अर्जुन ओझा चल-फिर नहीं सकते थे। दो दिन पहले उनकी कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसलिए इलाज के लिए घर से आए थे।

loading...
loading...

Check Also

हिसार में हंगामा: कोविड अस्‍पताल का फीता काटने पहुंचे CM खट्टर का विरोध किए किसान, DSP को पीटा

हिसार में रविवार को 500 बिस्तर की क्षमता वाले अस्थायी कोविड अस्पताल का उद्घाटन करने ...