Monday , October 18 2021
Breaking News
Home / खबर / रेंगानार बना 100% वैक्सीनेशन वाला पहला गांव, 20 लाख रुपए का मिला इनाम

रेंगानार बना 100% वैक्सीनेशन वाला पहला गांव, 20 लाख रुपए का मिला इनाम

रायपुर. छत्तीसगढ़ में दंतेवाड़ा जिले का नक्सल प्रभावित गांव रेंगानार, यहां की आधी आबादी अशिक्षित है, लेकिन वैक्सीनेशन को लेकर ऐसी जागरूकता रही कि प्रदेशभर में इस पंचायत ने 100% वैक्सीनेशन का नया कीर्तिमान रच दिया। यह प्रदेश की पहली मॉडल ग्राम पंचायत बन गई है। इस गांव के सभी ग्रामीणों ने कोरोना की वैक्सीन लगवा ली है। इस सफलता को लेकर कलेक्टर ने भी इस गांव को इनाम के रूप में 20 लाख रुपए देने की बात कही है। यह पैसा गांव के विकास कार्यों में लगेगा।

अफवाहों ने डराया था, स्वास्थ्य विभाग ने बढ़ाया मनोबल

नक्सलगढ़ रेंगानार गांव, यहां वैक्सीनेशन का काम पूरा करना आसान नहीं था। नपुंसकता, बीमार पड़ने, अपंगता जैसी कई अफवाहों ने भी यहां के ग्रामीणों को खूब डराया। ग्रामीण एक कदम पीछे भी हटे। स्वास्थ्य टीम, ग्राम पंचायत ने उदाहरणों के साथ ग्रामीणों को टीकाकरण का महत्व समझाया तो ग्रामीणों ने एक जुटता दिखाई। खेती- किसानी जैसे काम छोड़ टीकाकरण केंद्र तक पहुंचे और डेढ़ महीने के अंदर ही पूरे 294 वयस्क लोगों ने वैक्सीन लगवा ली।

ग्रामीण बोले- अब महामारी का डर नहीं

अब ग्रामीण खुद भी बेहद खुश हैं। ग्रामीणों ने कहा कि कोरोना जैसी बीमारी का अब डर नहीं है। सबसे खास बात ये है कि हाल ही में गढ़मिरी से अलग होकर यह अलग पंचायत बनी है । ये वही गांव है जहां नक्सली, विकास कार्यों में रोक लगाते आए हैं। इस गांव में 100% वैक्सीनेशन का कार्य पूरा होने पर मुख्य सचिव अमिताभ जैन ने भी तारीफ कर पूरी टीम को बधाई दी है।

टीम में जुनून था कि हर व्यक्ति को समझाएंगे

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बताया कि इस गांव में 100% टीकाकरण करना ही था। इसके लिए टारगेट तय कर लिया था और इसी जुनून के साथ काम शुरू किया। कुछ ग्रामीण जब पीछे हटने लगे तो सरपंच,उप सरपंच, पंचों की मदद ली। 4 पारों के हर घर तक पहुंचे। ग्रामीणों को टीकाकरण का महत्व उन्हीं की भाषा में, तरीके से समझाया। ग्रामीण फिर खुद आगे आने लगे।

युवाओं को ज़्यादा डर था, लेकिन फिर मान गए

इस गांव की सरपंच सनमती तेलामी, उप सरपंच दारा सिंह तेलामी ने बताया कि शुरुआत में ग्रामीण बहुत भयभीत थे। 18 साल से अधिक के युवाओं ने तो पहले मना ही कर दिया था। हमने सोचा कि शायद ही हमारे गांव के लोग आगे आ पाएंगे। कलेक्टर व सीईओ को भी हमने जानकारी दे दी थी। उन्होंने ग्रामीणों को जागरूक करने का तरीका बताया। हम सभी ने मिलकर काम किया और हम सफल हो गए।

जानिए रेंगानार गांव में टीकाकरण की स्थिति

रेंगानार गांव में कुल 294 लोग टीकाकरण की पात्रता में थे, जिनमें 18 से 44 साल तक के कुल 174 व 45 साल व इससे अधिक के कुल 120 पात्र ग्रामीण थे, जिन्होंने कोरोना की वैक्सीन लगवा ली है।

20 लाख रुपए इनाम देंगे

कलेक्टर दीपक सोनी ने बताया कि रेंगानार गांव में 18 वर्ष से अधिक उम्र के पात्र सभी लोगों का टीकाकरण पूरा हो गया है। रेंगानार 100% टीकाकरण कराने वाला जिला ही नहीं बल्कि प्रदेश की पहली मॉडल ग्राम पंचायत बन गई है। इसके लिए पूरी टीम को बधाई। अभी और भी गांवों में वैक्सीनेशन को लेकर काम चल रहा है। इस ग्राम पंचायत में विकास काम के लिए 20 लाख की इनाम राशि ग्राम पंचायत को दी जाएगी।

loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...