Friday , July 30 2021
Breaking News
Home / खबर / राजस्थान में कोरोना का खात्मा, 2 जिले हुए क्लीन, 21 में आया 0 का आंकड़ा

राजस्थान में कोरोना का खात्मा, 2 जिले हुए क्लीन, 21 में आया 0 का आंकड़ा

जयपुर. राजस्थान में कोरोना का संक्रमण अब कमजोर पड़ गया है। राज्य में सोमवार को 15,952 लोगों की जांच हुई, जिसमें से 99.60 फीसदी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। इनमें से केवल 55 लोगों की रिपोर्ट ही पॉजिटिव आई है, हालांकि मौत का सिलसिला अब भी नहीं रूक रहा। सोमवार को इस बीमारी से 3 लोगों की जान चली गई। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग से जारी रिपोर्ट देखे तो सोमवार को 33 में से 12 जिले ही ऐसे है, जहां कोरोना के केस मिले है। सबसे ज्यादा 19 केस जयपुर में मिले है। जयपुर के अलावा शेष सभी 11 जिलों में कुल 36 नये केस मिले है।

झालावाड़ा और बांसवाड़ा हुए कोरोना मुक्त

राजस्थान के दो जिले झालावाड़ा और बांसवाड़ा कोरोना मुक्त हो गए। यहां अब एक भी कोरोना के एक्टिव केस नहीं बचे है। झालावाड़ा में अब तक कोरोना के कुल 13,593 केस मिले है, जिसमें से 187 लोगों की जान चली गई। इधर बांसवाड़ा में 9989 कुल केस मिले, जबकि 104 लोगों की जान गई है।

अलवर, जयपुर को छोड़कर सभी जिलों में 100 से कम एक्टिव केस

राजस्थान के अलवर और जयपुर में कोरोना के मरीजों की संख्या अब भी 200 से 300 के बीच है। इन दो जिलों के अलावा किसी भी जिले में 100 से कम एक्टिव केस है। वहीं 8 जिले ऐसे है जहां 10 से भी कम एक्टिव केस है। इसमें बूंदी, प्रतापगढ़, पाली, जालौर, जैसलमेर, डूंगरपुर, धौलपुर और बारां जिला शामिल है।

सबसे कम एक्टिव केस के मामले में देश का 8वां राज्य

देश में कोरोना की दूसरी का प्रभाव अभी भी दक्षिण राज्यों में बना हुआ है। यहां सोमवार को भी कई राज्यों में दो हजार से ज्यादा केस आ रहे है। इसमें महाराष्ट्र के अलावा केरल, कर्नाटक, आंध्रा प्रदेश इस सूची में शामिल है। एक्टिव केसों की स्थिति देखे तो देशभर में सबसे कम एक्टिव केस केन्द्र शासित प्रदेश अण्डमान निकोबार में 21 है। राजस्थान इस सूची में 8वें नंबर पर आता है। राजस्थान में अब 1092 एक्टिव केस बचे है। इससे कम एक्टिव केस दिल्ली, झारखण्ड, मध्य प्रदेश भी आते है।

loading...

Check Also

सीरो सर्वे : तीसरी लहर की आशंका के बीच यूपी ने दी गुड न्यूज़, 71% लोगों में मिली एंटीबॉडी

लखनऊ :  कोरोना की तीसरी लहर की आशंकाओं के बीच यूपी के लिए राहत भरी ...