Sunday , May 16 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / यूपी वालों के लिए ‘फरिश्ता’ है ये शख्स, मात्र ₹ 1 में रोज रीफिल कर रहे 2500 ऑक्सिजन सिलिंडर

यूपी वालों के लिए ‘फरिश्ता’ है ये शख्स, मात्र ₹ 1 में रोज रीफिल कर रहे 2500 ऑक्सिजन सिलिंडर

कानपुर
महामारी के इस दौर में जब लोग मजबूरी का फायदा उठाकर मुनाफाखोरी में लगे हैं, वहीं ऐसे लोगों की भी कमी नहीं है जो तन-मन-धन से लोगों की मदद कर रहे हैं। ऐसे ही शख्स हैं रिमझिम इस्पात लिमिटेड के सीएमडी योगेश अग्रवाल। महामारी में उन्होंने अपने हमीरपुर स्थित स्टील प्लांट का उत्पादन घटाकर लोगों की मदद की ठान ली। उनके प्लांट से रोजाना 2,500 ऑक्सिजन सिलिंडर जरूरतमंदों को दिए जा रहे हैं। इस काम के लिए बिना कुछ लिए सिर्फ एक रुपये का सांकेतिक बिल जारी किया जाता है।

प्रदेश में अप्रैल के पहले हफ्ते से ही कोरोना संकट गहराने लगा था और 15 अप्रैल तक हर जगह प्राणवायु के लिए मारामारी शुरू हो गई थी। इस संकट को भांपते हुए योगेश ने स्टील उत्पादन में इस्तेमाल होने वाली ऑक्सिजन जरूरतमंदों तक पहुंचाने की ठानी। इसके लिए करोड़ों रुपये खर्च कर कंप्रेसर और बाकी मशीनें लगवाईं। करीब 50 कर्मचारियों की मदद से पहले दिन 500 सिलिंडरों में ऑक्सिजन भरी गई। ऑक्सिजन की मांग बढ़ने पर योगेश ने स्टील उत्पादन 50% तक घटा दी।

कर्मचारियों को दे रहे प्रोत्साहन राशि
योगेश कहते हैं कि सिलिंडर रास्ते में रोके न जाएं, इसके लिए एक रुपये लेने का सांकेतिक बिल जारी किया जाता है। कानपुर, लखनऊ और बुंदेलखंड को इस संकट में प्राथमिकता दी जा रही है। मेरठ, नोएडा और पीलीभीत के अलावा पूरे यूपी और एमपी तक सिलिंडर भरकर जा रहे हैं। कर्मचारियों को ज्यादा सिलिंडर भरने के एवज में प्रोत्साहन राशि भी दी जा रही है।

संक्रमित दोस्त को घर पर रखकर किया इलाज
गोमतीनगर निवासी अखिलेंद्र और लखनऊ में एसीएम के पद पर तैनात उनकी पत्नी पल्लवी ने दोस्ती की अनोखी मिसाल पेश की है। अखिलेंद्र के इंदिरानगर निवासी मित्र विनीत सिंह (45) 12 दिन पहले कोरोना संक्रमित हो गए थे। डायबीटीज और फेफड़ों के संक्रमित से पीड़ित विनीत की पत्नी रचना पुडुचेरी में एसपी हैं, जबकि विनीत इंदिरानगर में बुजुर्ग माता-पिता और दो भाइयों के साथ रहते हैं। कोरोना संक्रमित होने का पता चलते ही विनीत अपनी बीमारियों के कारण काफी घबरा गए। इसकी जानकारी मिलते ही संक्रमण की परवाह किए बिना अखिलेंद्र उन्हें अपने घर ले आए और उपचार शुरू किया और अब विनीत बिल्कुल स्वस्थ हैं। बकौल अखिलेंद्र, इस काम में पल्लवी ने भी उनका पूरा सहयोग किया।

 

loading...
loading...

Check Also

हिसार में हंगामा: कोविड अस्‍पताल का फीता काटने पहुंचे CM खट्टर का विरोध किए किसान, DSP को पीटा

हिसार में रविवार को 500 बिस्तर की क्षमता वाले अस्थायी कोविड अस्पताल का उद्घाटन करने ...