https://www.googletagmanager.com/gtag/js?id=UA-91096054-1">
Friday , June 25 2021
Breaking News
Home / खबर / आतंकियों की 9 गोली लगने के बावजूद मौत को दी मात, अब कोरोना से जंग लड़ रहे कमांडेंट चीता

आतंकियों की 9 गोली लगने के बावजूद मौत को दी मात, अब कोरोना से जंग लड़ रहे कमांडेंट चीता

झज्जर :  आतंकियों की 9 गोली लगने के बाद भी मौत को मात देने वाले सीआरपीएफ के जाबांज कमांडेंट चेतन चीता कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए हैं। उनकी हालत नाजुक बनी हुई है और उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है। उनका इलाज हरियाणा के झज्जर एम्स द्वारा संचालित नैशनल कैंसर इंस्टिट्यूट (NCI) में चल रहा है। डॉक्टरों के अनुसार, अगले 48 घंटे उनके लिए बेहद अहम है।

एनसीआई में कोविड सर्विस की चेयरपर्सन डॉ. सुषमा भटनागर ने बताया, ‘अगले 48 घंटे नाजुक है। वह फिलहाल वेंटिलेटर पर हैं। ऐंटी वायरल थेरपी के साथ हम सेकंडरी बैक्टीरियल इंफेक्शन के इलाज के लिए एंटीबायोटिक्स दे रहे हैं। उन्हें ब्लड प्रेशर मेनटेन रखने के लिए भी दवा की जरूरत है।’

कीर्ति चक्र से सम्मानित
चीता फरवरी 2017 में कश्मीर घाटी में सीआरपीएफ की 45वीं बटालियन के कमांडिंग अफसर के रूप में तैनात थे। एक आतंकी हमले में उनके सिर, दाईं आंख, पेट, दोनों बांहें, बाएं हाथ और कमर के निचले हिस्से में कई गोलियां लगी थीं। एम्स ट्रामा सेंटर में कई सर्जरी कर उनकी जान बचाई गई थी। वह अप्रैल 2017 में डिस्चार्ज हुए थे और 2018 में वापस ड्यूटी पर लौट आए थे। उन्हें शांतिकाल में बहादुरी के दूसरे सबसे बड़े सम्मान कीर्ति चक्र से सम्मानित किया गया था।

9 मई को अस्पताल में भर्ती हुए थे
एनसीआई झज्जर में तैनात डॉक्टर ने कहा, ‘वह फाइटर हैं। हमें उम्मीद है कि वह फिर से नाजुक स्थिति से बाहर आ जाएंगे।’ 9 मई को कोविड पॉजिटिव होने के बाद ऑक्सिजन लेवल कम होने पर उन्हें एम्स लाया गया। शुरुआत में उन्हें ऑक्सिजन सपोर्ट पर आईसीयू में रखा गया था। डॉक्टरों का कहना है कि एंटी वायरल थेरपी से उनकी हालत में सुधार हो रहा था लेकिन रविवार को अचानक फिर सेहत बिगड़ गई। एक डॉक्टर ने बताया, ‘हम हर संभव कोशिश कर रहे हैं लेकिन उनकी स्थिति नाजुक बनी हुई है।’

 

loading...
loading...

Check Also

WTC Final में हार से मायूस विराट ने दिया बड़ा बयान, टीम से इन 4 का होगा पत्ता साफ!

नई दिल्ली:  बुधवार को WTC Final 2021 में न्यूजीलैंड के हाथों मिली हार के बाद ...