https://www.googletagmanager.com/gtag/js?id=UA-91096054-1">
Thursday , June 24 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / UP में एक्टिव कोरोना केस में 93% की कमी, कल इस सिस्टम से 64 जिलों में खुलेगी OPD

UP में एक्टिव कोरोना केस में 93% की कमी, कल इस सिस्टम से 64 जिलों में खुलेगी OPD

उत्तर प्रदेश में कोरोना के हालात अब पटरी पर आने लगे हैं। बीते 24 घंटे में 1,514 नए केस सामने आए हैं। जबकि 4,439 लोग कोरोना से ठीक हुए। बीते 25 दिनों में एक्टिव मामले 93 फीसदी घटे हैं। 30 अप्रैल को प्रदेश में 3 लाख से ज्यादा एक्टिव केस थे, जो अब घटकर 28,694 पर पहुंच गए हैं। एक दिन में 151 की जान गई है। प्रदेश में रिकवरी रेट 97.1 फीसदी है। अब तक 16.44 लाख लोग संक्रमण से ठीक हो चुके हैं।

संक्रमण दर घटने से योगी सरकार ने प्रदेश के 11 जिलों को छोड़कर अन्य 64 जिलों के सभी अस्पतालों में 4 जून यानी कल से जनरल ओपीडी शुरू करने का निर्देश दिया है। हालांकि, इस दौरान ओपीडी में आने के लिए मरीज का समय पहले से तय किया जाएगा। लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, मेरठ, गौतमबुद्धनगर, गोरखपुर, गाजियाबाद, बरेली, सहारनपुर, बुलंदशहर, मुजफ्फरनगर में 600 से एक्टिव केस होने पर राहत मिलेगी। यानी अभी इन जिलों में पाबंदियां पहले की तरह ही जारी रहेगी।

सरकारी अस्पतालों में अब होंगे ऑपरेशन
अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि ओपीडी के संचालन के लिए सभी जिलों के सीएमओ और जिलाधिकारी को पत्र जारी कर दिया है। इसमें ऑपरेशन का काम भी अब शुरू होगा। ईएनटी विभाग भी पहले की तरह काम करेगा। अभी अस्पतालों में महज दो घंटे के लिए ईएनटी के डॉक्टर बैठ रहे थे। हालांकि, ओपीडी में इलाज के लिए पहले से समय लिया जाएगा। इससे कि वहां पर एक साथ बहुत भीड़ न हो।

उदाहारण के लिए जैसे अकेले लखनऊ के सरकारी अस्पतालों में प्रतिदिन 30 हजार से ज्यादा मरीज ओपीडी में आते हैं। अब इसके लिए सभी अस्पताल अपने स्तर पर नंबर या ऑन लाइन व्यवस्था जारी करेंगे। इस दौरान अस्पतालों में विशेष तौर पर फीवर क्लीनिक चालू करने की बात कही गई है। साथ ही 7 जून तक अस्पतालों की रंगाई-पोताई का काम भी पूरा करने का आदेश जारी किया गया है।

प्रसव से पहले गर्भवती महिलाओं की जांच जरूरी
पहले की तरह गर्भवती महिलाओं का प्रसव अस्पतालों में कराया जाएगा। हालांकि, भर्ती से पहले मरीज का ट्रूनेट या आरटीपीसीआर जांच कराना अनिवार्य होगा। जिला अस्पतालों में कोविड केयर सेंटर चलाए जाएंगे।

loading...
loading...

Check Also

चीन का गुनाह: कोरोना के शुरुआती मरीजों का डिलीट किया डेटा, ताकि कुछ न जाने दुनिया!

कोरोना वायरस के स्रोत को लेकर घिरे चीन और उसकी वुहान लैब के बारे में ...