Sunday , June 13 2021
Breaking News
Home / खबर / डेटॉल के पैक पर छपे बिहार के ‘ब्लडमैन’, अमिताभ बच्चन भी हैं इनके फैन

डेटॉल के पैक पर छपे बिहार के ‘ब्लडमैन’, अमिताभ बच्चन भी हैं इनके फैन

पटना. कोरोना संकट के बीच कई लोग बड़े मददगार बनकर सामने आए हैं। बिहार के पटना निवासी मुकेश हिसारिया भी इन्हीं में से एक हैं। मुकेश को समाजसेवा के लिए ब्लडमैन के नाम से जाना जाता है। कोरोना काल में लोगों की मदद करने के लिए डेटॉल कंपनी ने मुकेश को सम्मानित किया है। डेटॉल ने उन्हें ऑवर प्रोटेक्टर सम्मान से नवाजा है। अमिताभ बच्चन भी मुकेश के सामाजिक कामों के लिए उनकी तारीफ कर चुके हैं।

डेटॉल के प्रोडक्ट पैक पर मुस्कुराते दिखेंगे मुकेश
मुकेश के साथ डेटॉल कंपनी ने एक एग्रीमेंट साइन किया है। इसके तहत उनकी तस्वीर को डेटॉल प्रोडक्ट के पैक पर लगाया जाएगा। इसके साथ ही समाज के लिए संकट की घड़ी में किए गए उनके काम की भी इसमें चर्चा होगी। डेटॉल ने मुकेश की कहानी को जन-जन तक पहुंचाने के लिए उनके साथ 6 महीने का एक एग्रीमेंट साइन किया है। डेटॉल की तरफ से मुकेश को उनकी तस्वीर वाला डेटॉल का एक पैक और एक प्रशस्ति पत्र भी भेजा गया है।

पहले भी मिल चुके हैं कई सम्मान
पेशे से बिजनेसमैन मुकेश हिसारिया को 2013 में कौन बनेगा करोड़पति में विशेष रूप से बुलाया गया था। उन्हें इस शो में बुलाने की वजह थी उनका काम। मुकेश अब तक 50 हजार से ज्यादा लोगों को खून देकर उनकी जान बचा चुके हैं। इसके अलावा जनसहयोग से अब तक उन्होंने 488 गरीब परिवार की बेटियों की शादी कराई है। ऐसे परिवार जो अपनी बेटियों की शादी का खर्च नहीं उठा सकते उनके लिए मुकेश सामूहिक शादियों का आयोजन करवाते हैं।

केबीसी के दौरान अमिताभ ने मुकेश की तारीफ की थी। साथ ही बिगबी ने उन्हें एक ऐसा ब्लड बैंक बनाने को कहा था, जहां प्रोसेसिंग फीस न लगे। अमिताभ ने प्रोसेसिंग फीस की 50 प्रतिशत रकम अपनी तरफ से और 50 प्रतिशत क्रिकेटर महेन्द्र सिंह धोनी की तरफ दिए जाने की बात कही थी। शाहरुख खान ने भी मुकेश को 2016 में अपनी फिल्म के प्रमोशन पर मुंबई बुलाया था। वहीं 2017 में कपिल शर्मा ने भी उन्हें अपने शो में बुलाया था।

कोरोना के दौरान 124 शवों का अंतिम संस्कार कराया
मुकेश ने कोरोना की दूसरी लहर में 125 शवों का अंतिम संस्कार करवाया है। ये ऐसे शव थे जिनका अंतिम संस्कार करने के लिए उनके परिवार के लोग भी सामने नहीं आ रहे थे। कई ऐसे लोग जो लाचारी में अपने परिजन का शव लेने नहीं आ पा रहे थे वे भी मुकेश से संपर्क करते थे। ऐसे सभी शवों का मुकेश ने पूरे सम्मान के साथ अंतिम संस्कार करवाया। यही नहीं परिवार वालों को वीडियो और फोटो के जरिए अंतिम दर्शन भी कराए।

डेटॉल कंपनी से मांगी है थैलेसीमिया पीड़ित बच्चों के लिए मदद
डेटॉल कंपनी ने जब उनसे इस सम्मान को लेकर बात की तो मुकेश ने उनके सामने अपनी शर्त रख दी। कंपनी से उन्होंने थैलेसीमिया पीड़ित 4 बच्चों के इलाज के लिए वेल्लोर में रहने का खर्च उठाने की मांग की है। मुकेश ने अपना फोटो डेटॉल के पैक पर इस्तेमाल होने के बदले ये मांग की है। कंपनी ने इस पर विचार करने की बात कही है।

मुकेश थैलेसीमिया से पीड़ित बच्चों के इलाज के लिए काम करते हैं। थैलेसीमिया से पीड़ित बच्चों को हर 15 दिन में खून चढ़ाने की जरूरत होती है। इसमें लाखों का खर्च आता है। यही वजह है कि मुकेश ऐसे बच्चों की मदद करते हैं।

loading...
loading...

Check Also

लद्धाख: भारतीय सेना को मिलेंगी स्पेशल बोट्स, पैंगोंग झील में चीन को ऐसे देगी टक्कर

नई दिल्ली भारत और चीन के बाद पूर्वी लद्दाख में सीमा पर तनातनी के बीच ...