Thursday , December 2 2021
Home / उत्तर प्रदेश / श्रमिकों से सीएम योगी की भावुक अपील- धैर्य बनाए रखें, हम सबको वापस लाएंगे

श्रमिकों से सीएम योगी की भावुक अपील- धैर्य बनाए रखें, हम सबको वापस लाएंगे

लखनऊ । देश के विभिन्न राज्यों में फंसे उत्तर प्रदेश के कामगारों एवं श्रमिकों को सुरक्षित घरों तक पहुंचाने के लिए योगी सरकार जुट गई है। गुरुवार को मध्य प्रदेश से यूपी के कामगार और श्रमिक लाए जाएंगे। इसी तरह शुक्रवार को गुजरात से प्रदेश के कामगारों को लाने का काम शुरू होगा। इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री ने गुरुवार को टीम-11 के साथ बैठक में विस्तृत चर्चा की और लॉकडाउन को लेकर निर्देश दिये।

विस्तृत कार्ययोजना की जा रही तैयार
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी राज्यों में फंसे उत्तर प्रदेश के कामगारों और श्रमिकों से की भावुक अपील करते हुए कहा अभी तक आपने जिस धैर्य का परिचय दिया है उसे बनाए रखें। संबंधित राज्यों की सरकारों से संपर्क कर सभी को घरों तक सुरक्षित पहुंचाने की विस्तृत कार्ययोजना तैयार हो रही है। इसलिए जो लोग जहां हैं, वहीं रहें। सभी लोग संबंधित राज्य सरकारों के संपर्क में रहें, कतई पैदल ना चलें।

सभी राज्यों से मांगी उप्र के कामगारों की सूची और मेडिकल रिपोर्ट

प्रदेश के निवासियों की घर वापसी के लिए योगी सरकार ने सभी राज्यों को पत्र भी लिखा है। इसमें उत्तर प्रदेश के कामगारों और श्रमिकों का विस्तृत ब्यौरा मांगा गया है। इसमें सभी का नाम, पता और मोबाइल नंबर के साथ ही मेडिकल रिपोर्ट भी मांगी गई है।

06 लाख लोगों को क्वारेंटाइन सेंटर में रखने के इंतजाम

इन कामगारों और श्रमिकों को उनके घरों तक सुरक्षित पहुंचाने की प्रक्रिया में मुख्यमंत्री योगी ने राजस्व विभाग से 06 लाख लोगों के लिए क्वारेंटाइन सेंटर, शेल्टर होम और कम्युनिटी किचेन तैयार कराए हैं।

शुक्रवार को गुजरात से लाये जाएंगे श्रमिक

गुरुवार को मध्य प्रदेश से यूपी के कामगार और श्रमिक लाए जाएंगे। इसी तरह शुक्रवार को गुजरात से प्रदेश के कामगारों को लाने का काम शुरू होगा। इससे पहले दिल्ली से 28-29 मार्च को चार लाख लोगों को सुरक्षित तरीके से उनके गृह जनपदों तक पहुंचाया जा चुका है। हरियाणा और राजस्थान से भी इसी तरह 50,000 लोगों को वापस लाया जा चुका है। हरियाणा से 13,000 लोगों को भी लाया जा रहा है।

राजस्थान के कोटा में फंसे उत्तर प्रदेश के 11,500 छात्र-छात्राओं को भी योगी सरकार सुरक्षित घरों तक पहुंचा चुकी है। मुख्यमंत्री स्वयं इनसे संवाद कर घर में रहकर पढ़ाई की अपील कर चुके हैं। इसी तरह प्रयागराज से प्रदेश के विभिन्न जनपदों के 15,000 छात्रों को सरकार सुरक्षित घर पहुंचा चुकी है। इस तरह की पहल करके अपने राज्य के निवासियों को चरणबद्ध तरीके से लाने वाला उत्तर प्रदेश पहला राज्य है।

कोरोना अस्पतालों में 52 हजार बेड होंगे तैयार

वहीं कोरोना की भविष्य की चुनौती से निपटने के लिए मुख्यमंत्री ने लेवल-1, लेवल-2 और लेवल-3 के कोविड अस्पतालों की क्षमता विस्तार करके 52,000 बेड तैयार करने के निर्देश दिये हैं।

loading...

Check Also

Petrol Diesel Price Today: पेट्रोल-डीजल सस्ता हुआ या महंगा, जारी हो गए नए रेट, फटाफट करें चेक

सरकारी तेल कंपनियों की ओर से आज पेट्रोल-डीजल के दामों में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई ...