Monday , December 6 2021
Home / ऑफबीट / बच्चे के गले में अटक जाये सिक्का तो घर पर ही ऐसे करें इलाज, झट से मिलेगा नतीजा

बच्चे के गले में अटक जाये सिक्का तो घर पर ही ऐसे करें इलाज, झट से मिलेगा नतीजा

बच्चो को भगवान का रूप माना जाता है, ऐसे में बच्चे सभी को बेहद मासूम व प्यारे लगते है। सभी इन्हें खेलाने की कोशिश करते है लेकिन यही बच्चे शैतानी करने में सभी के बाप होते है। यदि आपने इन पर से थोडी भी लापरवाही दिखाई तो ये कब क्या कर लेंगे यह कोई नही जानता है। ऐसे में आपने कई बार ऐसा होते हुए देखा ही होगा कि छोटे बच्चे कभी कभी खेल खेल में या मौज मस्ती में कुछ ऐसी शैतानी भी कर जाते हैं जिसकी वजह से ना सिर्फ उन्हे बल्कि उनके माँ पिता को भी काफी ज्यादा परेशान होना पद जाता है और उसी में से एक है की बच्चे कभी कभी सिक्का भी घोट जाते है। यदि कोई बच्चा सिक्का घोट ले तो इससे उस बच्चे के मां बाप की जान हलक में आ जाती है, जिसके चलते उन्हें काफी दिक्कतो का सामना भी करना पड़ता है क्योंकि इसके चलते किसी भी बच्चे की जान जा सकती है।

जी हां, यदि कोई सिक्का श्वासनली के ब्लॉक में अटक जाए तो इससे जान भी जा सकती है। ऐसी परिस्थितियो मेंअक्सर लोग की सोचने व समझने की प्रतिक्रिया काम करना बन्द कर देते है और बच्चा जब रोने लगता है तो कुछ समझ ही नही आता है क्या करे और क्या न करे? ऐसे में आज हम आपको यही बताने जा रहे है कि इस परिस्थिति में आपको सबसे पहले क्या करना चाहिए। यदि कुछ ऐसा आपके आस पास या आपके साथ घटित हो तो सबसे पहले घबराए बिलकुल भी न क्योंकि इससे समस्या और भी बढ़ सकती है।

ऐसी स्थिति अगर कभी आ जाए तो उस दौरान आप परेशानी को साइड में रखकर सबसे पहले आप बच्चे को काबू में करने की कोशिश करे ताकि वो ज्यादा उछल कूद न करे। फिर इसके बाद आपको उस बच्चे को तुरंत शांत करवाए और उसका पेट व पीठ पकडकर बच्चे को थोडा आगे की ओर झुका कर और पेट को दबाकर पीठ पर जोर से थपकी दे। ऐसा करने से थूक के साथ में वो सिक्का मुंह से तुरंत बाहर की ओर निकल आयेगा। नीचे से बच्चे के पेट को थोडा मजबूती से पकड़े।

अगर इन सब के बावजूद सिक्का नही निकलता है तो ऐसी स्थिति में आपको तुंरत बच्चे को इलाज करवाने के लिए डॉक्टर के पास लेकर जाना चाहिए। जिससे वह समय रहते परीक्षण कर सिक्का बच्चे के गले में से निकाल लें। इसलिए हम सभी को बच्चों की ओर काफी सजग रहना चाहिए क्योंकि कब उनके छोटी सी शैतानी के बदौलत किसी ओर को मुसीबत में डाल दे या फिर कुछ नही तो खुद को ही मुसीबत में डाल लें। इसलिए बच्चो के प्रति किसी भी व्यक्ति को लापरवाही नही बरतनी चाहिए क्योंकि इससे आपको काफी नुकसान सहना पड़ सकता है।

loading...

Check Also

रहस्य : हिमाचल में 550 साल पुरानी ममी, आज भी बढ़ रहे है इनके नाखून और बाल

हिमाचल प्रदेश के लाहौल स्पीति जिले के गियू गांव में 550 साल से ज्यादा पुरानी ...