Saturday , November 27 2021
Home / क्राइम / Corona का बेढंगा इलाज बताकर लाखों जानें खतरे में डाल दिए ट्रंप, लोग पीने लगे डेटॉल

Corona का बेढंगा इलाज बताकर लाखों जानें खतरे में डाल दिए ट्रंप, लोग पीने लगे डेटॉल

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एक बार फिर सुर्खियों में है, परन्तु इस बार गलत कारणों से. ट्रम्प ने वुहान वायरस से निपटने के लिए एक बेहद ही अजीबोगरीब सुझाव दिया है. उनके अनुसार यदि व्यक्ति घरों में प्रयोग होने वाले disinfectants का सेवन करे, तो वो काफी हद तक वुहान वायरस के प्रकोप से बच सकता है. अब कोरोना महामारी से जूझ रहे अमेरिका में राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप का बयान लोगों के गले की फांस बन गया है. डोनाल्ड ट्रंप के अनुसार, “मैंने इस disinfectant को देखा है जो एक झटके में वायरस को समाप्त कर से. क्या उसे हैं किसी तरह मनुष्य के शरीर में इंजेक्ट कर सकते हैं? यह देखना बड़ा रोचक होगा”.

ट्रंप ने बकवास की, उनके भक्तों ने सच मान लिया. अमेरिकी मीडिया की खबरों के मुताबिक ट्रंप की सलाह के बाद न्यूयॉर्क में रोगाणुनाशक पीने के 30 से ज्यादा मामले सामने आए हैं. शहर के हेल्थ डिपार्टमेंट के अंतर्गत आने वाले जहर नियंत्रक केंद्र के पास इस तरह की घटनाओं की बीते 18 घंटों में 30 से ज्यादा कॉल्स आई हैं. हालांकि इनमें से किसी की भी न तो मौत हुई है न ही किसी को अस्पताल में एडमिट करने की ज़रूरत पड़ी है. इनमें से ज्यादातर मामले घर की साफ़-सफाई के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले लाइजॉल के सेवन से जुड़े हैं.

अब डोनाल्ड ट्रंप के इस बयान के कारण disinfectant बनाने वाली कम्पनियों को आगे आकर स्पष्टीकरण देना पड़ा है. लाइज़ोल और डिटॉल बनाने वाले कम्पनी रेकिट बेंकाइजर का कहना है कि ऐसे किसी अफवाह पर विश्वास ना करे, क्योंकि उनके उत्पाद शरीर के सेवन के लिए नहीं बने है. ट्रम्प के इस बेतुके बयान का अमेरिका के डॉक्टरों ने भी विरोध किया है. डॉक्टरों ने कहा कि ट्रम्प का ये सुझाव न केवल खतरनाक है बल्कि जानलेवा भी है.

जब ट्रंप चारों ओर से घिरने लगे, तो उन्होंने ट्विटर पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा, “मैंने आप जैसे पत्रकारों से मजाक में सिर्फ एक सवाल पूछा था, यह देखने के लिए की क्या होता है”. लेकिन ट्रंप शायद ये भूल रहे हैं कि वे सिर्फ एक उद्योगपति या एक राजनीतिज्ञ नहीं, अपितु अमेरिका जैसे शक्तिशाली देश के राष्ट्रपति भी हैं. एक वैश्विक नेता होने के नाते डोनाल्ड ट्रंप को अपने विचारों को बेहतर तरीके से पेश करना चाहिए.

जब देश में सवा नौ लाख से ज़्यादा लोग महामारी से संक्रमित हों, और 50000 से ज़्यादा लोगों की मृत्यु हो चुकी हो, तो ऐसे समय मे इस तरह के बयान ना केवल बचकाने होते हैं, अपितु राष्ट्रध्यक्ष की प्रतिबद्धता पर भी प्रश्न उठाते हैं. अभी हाल ही में एक महीने पहले दक्षिण अफ्रीका में एक चर्च में अनुयाइयों को पादरी ने वुहान वायरस से मुक्ति के नाम पर डिटॉल का घोल पिलाया था, जिसके कारण कई लोगों की जान पर बन आई थी.

loading...

Check Also

मुंबई ड्रग्स केस में एनसीबी ने 2 और संदिग्ध को किया गिरफ्तार

मुंबई । नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने मुंबई तट से एक क्रूज जहाज से प्रतिबंधित दवाओं ...