Saturday , December 4 2021
Home / उत्तर प्रदेश / चीन से बोलेगा भारत- हमारे लोगों की जान बेशकीमती, उठा ले जाओ अपना कूड़ा

चीन से बोलेगा भारत- हमारे लोगों की जान बेशकीमती, उठा ले जाओ अपना कूड़ा

एक बार फिर से चीन ने मेड इन चाइना वाला माल भारत को सप्लाई कर दिया. और जैसा इस माल का नाम है, इसने वैसा ही काम किया. जी, कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में चीन से आई रैपिड टेस्ट किट ने भारत को धोखे का झटका दिया है. इसीलिए भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने इन टेस्ट किट को नए सिरे से परखने तक सभी राज्यों से अगले दो दिनों के दौरान रैपिड टेस्ट न करने को कहा है.

रेपिड टेस्ट किट के खराब होने की शिकायत राजस्थान से मिली थी जिसने अपने यहां इनके इस्तेमाल पर रोक लगाने का फैसला लिया. इन शिकायतों का हवाला देते हुए आईसीएमआर ने कहा कि एक राज्य से मिली शिकायत के बाद तीन और राज्यों में भी इसकी पड़ताल की गई. यह बात सामने आई है कि रैपिड किट और आरटी-पीसीआर के टेस्ट परिणामों में 6 से 71 फीसद तक का अंतर आ रहा है. यह ठीक नहीं है.

आईसीएमआर ने अपनी आठ प्रयोगशालाओं की फील्ड टीमों के जरिए इन टेस्ट किट के पुनः आकलन का फैसला लिया है. इसके बाद राज्यों ही राज्यों को स्पष्ट निर्देश जारी किया जाएगा. परिषद के डॉ गंगाखेड़कर ने कहा कि यदि टेस्ट किट दोषपूर्ण निकलती हैं तो हम कंपनी से इन्हें वापस लेने को कहेंगे.

भारत ने हाल ही में चीन से करीब 9.5 लाख टेस्ट किट खरीदी थी जिसमें साढ़े 5 लाख रैपिड टेस्ट किट खरीदी गई थी. भारत ने अपने दूतावास के जरिए गुवांगझो से वन्डफो कंपनी की ढ़ाई लाख रैपिड टेस्ट किट खरीदी थी जो 16 अप्रैल को भारत पहुंची. वहीं 19 अप्रैल को गुवांगझो से 3 लाख रैपिड टेस्ट किट एयर इंडिया के विशेष विमान से राजस्थान और तमिलनाडु पहुंची थी.

 

loading...

Check Also

पेट्रोल-डीजल की कमी के बाद अब इस देश में अंडरवियर्स और पजामे की भारी किल्लत

लंदन (ईएमएस)।आपकों जानकार हैरानी होगी कि यूके में इन दिनों अंडरवियर्स और पजामे की भारी ...