https://www.googletagmanager.com/gtag/js?id=UA-91096054-1">
Tuesday , June 22 2021
Breaking News
Home / खबर / “हिन्दू दुल्हन” नुसरत जहां का सिंदूर, मंगलसूत्र और फेरे.. सब थे Live-In Relationship के लिए?

“हिन्दू दुल्हन” नुसरत जहां का सिंदूर, मंगलसूत्र और फेरे.. सब थे Live-In Relationship के लिए?

लोकसभा चुनावों के दौरान जीत हासिल कर सुर्ख़ियों में आई नुसरत जहां एक बार फिर ख़बरों में हैं। चुनाव के बाद धूम धड़ाके से निखिल जैन के साथ शादी रचाने और उसकी फोटो सोशल मीडिया पर शेयर करने के बाद अब नुसरत जहां का कहना है कि उनकी और निखिल जैन की शादी भारतीय कानून के अनुसार वैध नहीं है। लाल जोड़े में बिंदी सिंदूर के साथ उनकी शादी की तस्वीरे वायरल हुई थी परन्तु अब उनका कहना है कि वे लिव-इन रिलेशनशिप में रह रही थी। हालाँकि लोकसभा वेबसाइट अभी भी टीएमसी सांसद नुसरत जहां की वैवाहिक स्थिति को ‘विवाहित’ के रूप में दिखाती है। उनके पति के रूप में ‘श्री निखिल जैन’ को दिखाया गया है।

वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में टीएमसी के टिकट पर उनकी बशीरहाट संसदीय सीट से बड़े अंतर से जीत और उसके महीने भर के भीतर ही एक मारवाड़ी व्यापारी निखिल जैन के साथ तुर्की में शादी की थी। लेकिन अब आईं रिपोर्ट्स के अनुसार, नुसरत जहां पिछले 6 महीनों से अपने पति से अलग रह रही हैं। बताया जा रहा है कि वह इस समय प्रेग्‍नेंट हैं और उनके पति निखिल को इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है। ऐसे में कई तरह के सवाल पूछे जाने लगे। बीते पाँच दिनों से इस मुद्दे पर तमाम क़यास लगाए जा रहे थे कि नुसरत के गर्भ में पलने वाले बच्चे का पिता कौन है।

BBC के अनुसार बीजेपी नेता यश दासगुप्ता, जो बीते चुनाव में पार्टी के उम्मीदवार थे, उनसे नुसरत की नज़दीकियां बढ़ने की भी ख़बरें आईं थी। बता दें कि नुसरत जहां ने निखिल जैन से 2019 में तुर्की में डेस्‍ट‍िनेशन वेडिंग की थी। उन्होंने अपनी शादी और उससे जुड़ी अफवाहों पर विराम लगाते हुए इस पूरे मामले पर बयान जारी किया है।

नुसरत जहां ने अब निखिल जैन से अपनी शादी को अमान्‍य बताते हुए कहा है कि, “तुर्की मैरेज रेग्‍युलेशन के अनुसार विदेशी धरती पर आयोजित होने के चलते ये सेरेमनी अमान्‍य है। इसके अलावा क्‍योंकि ये एक अंतरधार्मिक विवाह है, इसलिए इस शादी का भारत के ‘स्‍पेशल मैरेज एक्‍ट’ में मान्‍य होना जरूरी है, जो नहीं हुआ है। कानून के आधार पर ये शादी मान्‍य नहीं है, बल्कि एक लिव-इन-रिलेशनशिप है। ऐसे में तलाक लेने का सवाल ही नहीं उठता।”

नुसरत ने आगे कहा है, ‘हमारा अलगाव काफी पहले हो गया था, लेकिन मैंने इसके बारे में बात नहीं की क्‍योंकि मैं अपने प्राइवेट जीवन को प्राइवेट ही रखना चाहती थी। इसलिए मेरी किसी भी बात को हमारे सेपरेशन से जोड़कर कोई भी जज न करे। जिस शादी की बात हो रही है वह मान्‍य नहीं है और इसलिए कानून की नजर में ये शादी है ही नहीं।’

हैरानी की बात यह है कि नुसरत ने संसद में शपथ के दौरान अपना नाम “नुसरत जहां रूही जैन” लिया था और साथ ही नुसरत जहां ने लोकसभा चुनाव फॉर्म में अपनी वैवाहिक स्थिति को विवाहित बताया था। अगर उन्होंने शादी नहीं की थी और उन्हें यह पता था कि यह शादी अमान्य है तो फिर उन्होंने सिर्फ संसद में ही झूठ नहीं बोला है बल्कि लोकसभा चुनाव फॉर्म में भी झूठी जानकारी दी है। इस तरह उन पर कानूनी कार्रवाई भी हो सकती है।

याद दिला दें कि नुसरत जहां ने लोक सभा में साड़ी, मंगलसूत्र और सिंदूर में शपथ ली, इतना ही नहीं नुसरत ने ईश्वर के नाम पर शपथ ली और अपनी शपथ का अंत उन्होने जय हिन्द वंदे मातरम और जय बंगला बोलकर किया था। नुसरत जहां ने इसके अलावा कई हिन्दू त्योहारों, जैसे नवरात्रि, करवाचौथ इत्यादि में भी बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। इस दौरान नुसरत जहां के खिलाफ फतवा भी जारी किया गया, परंतु इसका नुसरत जहां पर कोई प्रभाव नहीं दिखा था।

loading...
loading...

Check Also

UP हुआ शर्मसार : 2 साल की बच्ची से रेप, मासूम को तड़पता छोड़ भाग खड़ा हुआ दरिंदा, मौत 

उत्तर प्रदेश के बहराइच जिले से इंसानियत को शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई ...