Wednesday , December 1 2021
Home / उत्तर प्रदेश / अभी जानिए वो खबर जो 3 मई को सुनाएंगे मोदी, ये है लॉकडाउन 3.0 की पूरी तैयारी

अभी जानिए वो खबर जो 3 मई को सुनाएंगे मोदी, ये है लॉकडाउन 3.0 की पूरी तैयारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज्य के मुख्यमंत्रियों के साथ आज तकरीबन तीन घंटे से ज्यादा समय तक मीटिंग चली। इस दौरान कोरोना वायरस (Coronavirus) से लेकर लॉकडाउन (Lockdown) तक हर मसले पर चर्चा की गई। देशवासियों को भी पिछले कई दिनों से इस मीटिंग का इंतजार था, ताकि लॉकडाउन की स्थिति साफ हो सके। हालांकि मीटिंग के बाद अब तक लॉकडाउन को लेकर कुछ भी स्पष्ट नहीं हो पाया है। घरों में बैठे लोग टीवी और वेबसाइट पर मीटिंग का हर अपडेट ले रहे थे। अब सोशल मीडिया में लोग यही सवाल कर रहे हैं कि क्या तीन मई को लॉकडाउन खुलेगा या नहीं। आइए सिलसिलेवार तरीके से समझते हैं कि इस मीटिंग ( PM Modi and CM meeting) से क्या इशारे मिल रहे हैं। आगे खुद आपको अंदाजा लग जाएगा कि 3 मई को लॉकडाउन खुलेगा या नहीं?

‘मोदी ने कहा- जून, जुलाई में बढ़ सकते हैं मामले’
बैठक के बाद छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री ने जो कहा, उस पर गौर करने की जरूरत है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के बाद टीएस सिंह देव ने कहा, ‘स्थितियां काफी नियंत्रण में हैं लेकिन पीएम मोदी ने पहले कहा था कि अप्रैल के आखिर और मई के पहले सप्ताह में स्पाइक आ सकता है यानी केस बढ़ सकते हैं और अब लोग कह रहे हैं कि जून-जुलाई तक ये खतरा टलेगा नहीं। यानी जून-जुलाई तक केस बढ़ सकते हैं। कोरोना हमारे साथ लंबे समय तक रहेगा। इस बात को ध्यान में रखते हुए हमें आगे की एक्टिविटी करनी होगी।’ छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के साथ स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव भी बैठक में शामिल रहे।

पुडुचेरी के सीएम ने दिया इशारा
पुडुचेरी के मुख्यमंत्री वी नारायणसामी भी कुछ यही बात कहते नजर आए। उन्होंने कहा कि पीएम और सीएम के बीच हुई मीटिंग का निष्कर्ष ये है कि कुछ रियायतों के साथ लॉकडाउन को आगे बढ़ाया जाए। मतलब साफ है कि ये लॉकडाउन तीन मई के बाद भी आगे बढ़ेगा।

महाराष्ट्र के सीएम दफ्तर की भी वही बात
महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के कार्यालय से भी बयान जारी किया गया। बयान में कहा गया, “मुख्यमंत्रियों के साथ एक वीडियो कॉन्फ्रेंस में पीएम मोदी ने संकेत दिया कि कोरोनो वायरस संक्रमण तीन मई से अधिक समय तक रहेगा और लोगों को मास्क, सैनिटाइजर का इस्तेमाल जारी रखने की जरूरत है। लॉकडाउन अवधि तीन मई को समाप्त हो रही है, हर राज्य को मौजूदा कड़े दिशानिर्देशों में छूट की शुरुआत करने की अपनी नीति तय करनी होगी। इसमें सड़क यातायात की अनुमति कैसे शामिल होगी, क्या वरिष्ठ नागरिकों को घरों से बाहर आना चाहिए, दुकानों की अनुमति कैसे देनी चाहिए।”

पैर पसारता जा रहा है कोरोना
कोरोना वायरस का कहर दुनिया के साथ-साथ भारत में भी बढ़ता जा रहा है। देश में इस खतरनाक वायरस के अब तक कुल लगभग 27,892 मामले आ चुके हैं। इस बीमारी से 6,185 लोग ठीक हो गए हैं या उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। यह जानलेवा बीमारी देश में अब तक सरकारी आंकड़े के अनुसार, 872 लोगों की जान ले चुकी है।

आधे से ज्यादा मरीज इन राज्यों से
देश के आधे से ज्यादा मरीज तो कुल पांच प्रदेशों से हैं। सबसे ज्यादा हालत महाराष्ट्र, दिल्ली, मध्यप्रदेश, राजस्थान, गुजरात के खराब हैं। महाराष्ट्र में अब तक 8068 मरीज पॉजिटिव हैं। इसमें से 1076 ठीक हो चुके हैं जबकि 342 लोगों की मौत हो चुकी है। महाराष्ट्र से दिल्ली में कम केस हैं लेकिन दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव केस तेजी से बढ़े हैं। दिल्ली में अब तक 2918 पॉजिटिव मामले हैं। जिसमें से 877 लोग ठीक होकर घर लौट चुके हैं वहीं 54 लोगों की मौत हो चुकी है। मध्य प्रदेश में 2096 मरीज पॉजिटिव हैं जिसमें से 302 लोग ठीक होकर घर लौट चुके हैं वहीं यहां पर मौत का आंकड़ा 103 है। यानी यहां पर लोगों की मौत ज्यादा हुई है। राज्स्थान में कोरोना वायरस के अब तक 2185 मामले सामने आ चुके हैं। जिसमें से 518 लोग ठीक होकर घर लौट चुके हैं और 33 लोगों की मौत हो चुकी है। गुजरात के हालात भी नाजुक है। गुजरात में अब तक 3301 केस पॉजिटिव आ चुके हैं। जिसमें से 313 लोग ठीक होकर घऱ लौट चुके हैं और 151 लोगों की मौत हो चुकी है।

पीएम बोले, ‘दो गज दूरी’ जरूरी
पीएम ने कहा कि देश ने अब तक दो लॉकडाउन देखा है। दोनों का असर हुआ है। अब हमें आगे के बारे में सोचना होगा। हमें दो गज दूरी बनाकर रखी होगी।उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस का असर आने वाले समय में भी दिखेगा। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में मास्क और फेस कवर हमारे जीवन का हिस्सा बन जाएंगे। उन्होंने लोगों से अपील की कि वे ऐसी परिस्थिति में जिम्मेदारी निभाएं।

अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर भी तैयारी
पीएम मोदी ने बैठक में कहा कि हमें देश की अर्थव्यवस्था पर भी ध्यान देना होगा। उन्होंने कहा कि हमारी अर्थव्यवस्था की सेहत ठीक है और हमें इसे लेकर घबराने की जरूरत नहीं है। ऑरेंज और ग्रीन जोन में आर्थिक गतिविधियों को छूट दी जा सकती है। उन्होंने कहा कि साथ-ही-साथ हमें कोविड-19 से भी लड़ना होगा। उन्होंने बैठक में तकनीक के इस्तेमाल और सुधारत्मक कदम उठाने पर बल दिया।

विदेशों में फंसे भारतीय पर यह बोले पीएम
विदेशों में फंसे भारतीय के मुद्दे पर पीएम ने कहा कि यह उनके सुविधा के लिहाज से किया जाएगा। उन्होंने कहा कि लेकिन इसके अलावा यह भी ध्यान दिया जाएगा कि उनकी वजह से उनके परिवारवालों को कोई तकलीफ नहीं हो।

हॉटस्पॉट पर राज्यों की दी बड़ी सलाह
पीएम ने राज्यों से हॉटस्पॉट और रेड जोन वाले क्षेत्रों में लॉकडाउन सख्ती से लागू करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि राज्यों को कोशिश करनी चाहिए कि रेड जोन को ऑरेंज जोन में और उसके बाद ग्रीन जोन में तब्दील किया जाए।

loading...

Check Also

पेट्रोल-डीजल की कमी के बाद अब इस देश में अंडरवियर्स और पजामे की भारी किल्लत

लंदन (ईएमएस)।आपकों जानकार हैरानी होगी कि यूके में इन दिनों अंडरवियर्स और पजामे की भारी ...