Tuesday , September 21 2021
Breaking News
Home / खबर / तीसरी लहर के खतरे के बीच खुल गए MP के स्कूल, स्टूडेंट्स के लिए बने हैं ये नियम

तीसरी लहर के खतरे के बीच खुल गए MP के स्कूल, स्टूडेंट्स के लिए बने हैं ये नियम

भोपाल/ मध्य प्रदेश में कोरोना की रफ्तार कम होने के बाद अब प्रदेशभर में सोमवार 26 जुलाई से स्कूल खुल गए हैं। शिक्षा विभाग द्वारा जारी दिशा निर्देशों के आधार पर सभी स्कूल प्रबंधनों द्वारा स्कूल खोले जाने से पहले कक्षाओं में सुरक्षा इंतजामों को व्यवस्थित कर लिया गया है। हर क्लास में मात्र अधिकतम 15 स्टूडेंट्स के बैठाने की व्यवस्था की गई है। स्कूल प्रबंधन ने बच्चों के प्रवेश के लिए एंट्री और एग्जिट के लिये अलग अलग मार्गों की व्यवस्था की है। कक्षाओं में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ छात्रों को बैठाने की व्यवस्था की गई है।

इन नियमों का करना होगा पालन

फिलहला, प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की रफ्तार अब थम चुकी है। लेकिन, तीसरी लहर का खतरा अब भी बरकरार हैं। ऐसे में संक्रमण से रोकथाम के मद्देनजर स्कूलों में सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन करने को कहा गया है। इसके लिए क्लासेस में डेस्क पर क्रॉस और टिक का निशान लगाया गया है। क्लास रूम में ही सैनेटाइजर की व्यवस्था होगी। स्कूल आने वाले छात्र-छात्राओं के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा। छात्र-छात्राओं को संक्रमण के खतरे से सुरक्षित रखने के लिए आने और जाने के लिए एंट्री और एग्जिट गेट की भी अलग से व्यवस्था की गई है।

माता-पिता, अभिभावकों की लिखित अनुमति अनिवार्य

स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा जारी आदेश के मुताबिक, स्कूल में आने और कक्षाओं में बैठने वाले छात्रों को स्कूल आने से पहले अपने माता-पिता या अभिभावकों की लिखित अनुमति लेना अनिवार्य होगी। 26 जुलाई को जब स्टूडेंट्स क्लासेस में पहुंचेंगे तो माता-पिता की लिखित अनुमति के साथ ही उन्हें प्रवेश दिया जाएगा। स्कूल प्रबंधन की तरफ से छात्र-छात्राओं को आई कार्ड भी दिए गए हैं, जिसे दिखाने के बाद ही स्कूल में बच्चों को प्रवेश मिल सकेगा।

loading...

Check Also

RCB vs KKR : कोहली के रडार पर 2 बड़े रिकॉर्ड, एक का बनना तो एकदम पक्का

आईपीएल फेज-2 का आज दूसरा मुकाबला रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच ...