Tuesday , November 30 2021
Home / क्राइम / बिहार : औरंगाबाद-मोतिहारी में पुलिस को पीटा, इन जाहिलों को कौन रोकेगा ?

बिहार : औरंगाबाद-मोतिहारी में पुलिस को पीटा, इन जाहिलों को कौन रोकेगा ?

कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहे कोरोना वॉरियर्स को संक्रमण के साथ-साथ गैर जागरूक लोगों की बदसलूकी से भी जूझना पड़ रहा है. इसके तीन उदाहरण बुधवार को सामने आए. बिहार के औरंगाबाद के गांव में कोरोना संदिग्ध की सूचना पर पहुंची टीम पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया. हमले में एसडीपीओ समेत कई लोग घायल हो गए. मोतिहारी में लोगों को जागरूक करने गए अफसरों पर ग्रामीणों ने हमला किया, इसमें बीडीओ घायल हो गए.

कोरोना संदिग्ध की सूचना मिलने पर औरंगाबाद के गोह थाना क्षेत्र के एकौनी गांव पहुंचे स्वास्थ्य कर्मियों और पुलिस पर गांव के लोगों ने बुधवार को हमला कर दिया. गांव के लोगों ने एसडीपीओ राजकुमार तिवारी और उनके साथ मौजूद पुलिस के जवानों को भी पीटा. सूचना मिलने पर पहुंचे डीएम सौरभ जोरवाल और एसपी दीपक बरनवाल ने पुलिस बल के साथ ग्रामीणों को खदेड़ा. एसडीपीओ के अलावा कई पुलिसकर्मी, आयुष चिकित्सक डॉ. अर्जुन कुमार, एएनएम नीलू कुमारी, केयर मैनेजर अनूप कुमार मिश्रा, ड्राइवर सूरज कुमार भी घायल हो गए.

मोतिहारी जिले में कोरोनावायरस के संक्रमण के साथ ही एईएस का खतरा भी मंडरा रहा है. गर्मी बढ़ने के साथ ही बच्चों को एईएस की शिकायत सामने आने लगी है. डीएम एस. कपिल अशोक ने अधिकारियों को गांव-गांव जाकर लोगों को कोरोना और एईएस के प्रति जागरूक करने का निर्देश दिया. डीएम के निर्देश पर बुधवार को हरसिद्धि प्रखंड के जागापाकड़ गांव के भैयाटोला में एसडीओ और बीडीओ लोगों को समझाने पहुंचे थे. चर्चा के दौरान उग्र ग्रामीणों ने हमला कर दिया, जिससे बीडीओ और दो पुलिसकर्मी घायल हो गए.

एक ओर जहां पूरा देश एकजुटता के साथ कोरोना वायरस महामारी के साथ जंग लड़ रहा है. तो वहीं कुछ आसामाजिक तत्व सरकार और आमजन के प्रयासों को विफल करने पर उतारू हैं. देश में आए दिन कोरोना वॉरियर्स पर हमले की घटनाएं सामने आ रही हैं. बुधवार को बिहार के अलावा ऐसी ही एक घटना यूपी के मुरादाबाद में भी सामने आई थी.

loading...

Check Also

पेट्रोल-डीजल की कमी के बाद अब इस देश में अंडरवियर्स और पजामे की भारी किल्लत

लंदन (ईएमएस)।आपकों जानकार हैरानी होगी कि यूके में इन दिनों अंडरवियर्स और पजामे की भारी ...