Tuesday , November 30 2021
Home / ऑफबीट / 99% लोग नहीं जानते शादी कार्ड वाले RSVP का अर्थ, ये है इसका मतलब

99% लोग नहीं जानते शादी कार्ड वाले RSVP का अर्थ, ये है इसका मतलब

अक्सर देखा जाता है कि शादी, सम्मान समारोह, बैठक या मिलन समारोह के कार्ड में RSVP लिखा होता है लेकिन कई लोगों को ये समझ में नहीं आत है। आरएसवीपी के साथ आयोजक का नाम, पता और संपर्क सूत्र भी लिखा होता है। सच बात तो ये है कि कईयों के ये पता ही नहीं होता है कि आखिर आरएसवीपी का सही अर्थ है क्या?

क्या है RSVP?  
आरएसवीपी यानी ‘रिपौन्दे सिल वू प्ले’ यह एक फ्रैंच वर्ड है जिसका अर्थ होता है प्लीज रिसपॉन्ड या प्लीज रिप्लाय। ये एक ऐसा निवेदन है जो आपसे कहता है कि आप अपने आने या न आने की सूचना आयोजक को पहले ही दे दें। ताकि वहां पर आपके लिए किए जा रहे आयोजन को और बेहतर बनाया जा सके। तो आइये जानते हैं कि आरएसवीपी के नियम और फायदे क्या क्या हैं और ये कहां से आया है।

अंग्रेजों के साथ भारत आया RSVP

वैसे तो इस शब्द का प्रयोग फ्रांस में 18वीं शताब्दी में शुरू किया गया । इसके बाद ये पूरे यूरोप में फैला और इंग्लैंड की हाई सोसायटी ने भी इसे एक्सेप्ट कर लिया। 20वीं सदी आते आते इंग्लैंड के निमंत्रण पत्रोंं में पूरी तरह से इसका प्रयोग किया जाने लगा। और ये एक प्रचलन बन गया। जब 20वीं सदी में अंग्रेज भारत आए तो उनके साथ ये आरएसवीपी शब्द भी आया। आज भी कई विदेशी एम्बेसी द्वारा इस शब्द का प्रयोग किया जाता है। इसके बाद भारतीयों के चलन में भी ये शब्द आ गया और कई लोग आरएसवीपी शब्द का प्रयोग अपने निमंत्रण पत्र में करते हैं।

यूरोप में बहुत अधिक प्रचलित RSVP

यूरोपियन देशों में आरएसवीपी बहुत अधिक प्रचलित है। इस शब्द के प्रयोग करने का मूल उद्देश्य अतिथियों और आयोजकों को कई परेशानियों से बचाना है। माना जा रहा है कि अब भारत में भी लोग इसके प्रति अवेयर हो रहे हैं और इस शब्द का प्रयोग अपने कार्ड में इस्तेमाल कर रहे हैं। हालांकि इस शब्द का सही अर्थ नहीं जान पाने का कारण इसे प्रयोग करने वालों की संख्या बहुत कम है।

क्या है RSVP का नियम 

इसके नियम के अनुसार ये होता है कि यदि व्यक्ति निमंत्रण मिलने के बाद कार्यक्रम स्थल पर नहीं पहुंच पा रहा है तो वह उसकी सूचना आयोजक को देगा, इससे आयोजक उस व्यक्ति पर होने वाले खर्च से बच सकता है। इसके अलावा आरएसवीपी अगर आप अपने कार्ड में लिख रहे हैं तो उसके साथ अपना पूरा नाम, पता और मोबाइल नंबर देना जरूरी है ताकि अतिथि आने या न आने की पूरी सूचना दे सके।

RSVP लिखा है तो जरूर करें रिप्लाई

अगर आपके पास कार्ड पहुंचा है और उसमें आरएसवीपी लिखा है तो जरूर रिप्लाई करें। ताकि उस समारोह के लिए लोगों की संख्या निर्धारित हो सके और उस हिसाब से सारा इंतजाम किया जा सके। तो अगर आपके यहां कार्ड आता है और उसमें आरएसवीपी लिखा होता है तो ये आपकी जिम्मेदारी बन जाती है कि आप उसका रिप्लाई जरूर करें।

क्या है RSVP का फायदा

अगर आरएसवीपी का प्रचलन हमारे यहां हो जाए तो उससे कई फायदे हो सकते हैं। इससे सबसे बड़ा फायदा होगा कि खाना बर्बाद नहीं होगा। कई कार्यक्रम में अतिथियों के लिए कमरा बुक किया जाता है तो उस खर्चे से भी आप बच सकते हैं। अगर आप अपने आने या न आने की सूचना दे देंगे तो सही समय पर सही व्यवस्था हो सकेगी। जिससे आपको और आयोजक दोनों को परेशानी नहीं होगी। आरएसवीपी(RSVP) का पालन करना शिष्टाचार के अंतर्गत भी आता है।

loading...

Check Also

बर्फीले इलाकों में पाए जाने वाले काले सफेद पक्षी पेंग्विन हो सकते हैं एलियंस !

-मिले दूसरे ग्रह से ‘कनेक्शन’ के सबूत लंदन । धरती पर बर्फीले इलाकों में पाए ...