TDS New Rules: 1 जुलाई से TDS नियमों में होगा बड़ा बदलाव, जानिए कौन से हैं!

TDS नए नियम: 1 जुलाई से TDS नियमों में बड़े बदलाव होंगे । उपहार देना और प्राप्त करना महंगा हो सकता है। नए नियम (TDS New Rules) के तहत इनकम टैक्स एक्ट में एक नई धारा 194R जोड़ी गई है। अब अगर किसी वित्तीय वर्ष में 20,000 रुपये या उससे अधिक का लाभ दिया जाता है, तो उस पर 10 प्रतिशत टीडीएस काटा जाएगा। यह प्रावधान फरवरी 2022 में पेश बजट 2022 में किया गया था। वित्त मंत्रालय के संयुक्त सचिव कमलेश सी वार्ष्णेय के अनुसार, ऐसी सुविधाएं अतिरिक्त लाभ के साथ आती हैं और उन पर कर लगेगा। इस मामले में, दाता प्राप्तकर्ता से टीडीएस प्राप्त करेगा। इसको लेकर अभी कोई भ्रम नहीं होना चाहिए।

पता करें कि टीडीएस कहां चार्ज किया जाएगा –

टीडीएस न केवल किसी को भुगतान किए गए नकद लाभों पर काटा जाएगा, बल्कि कंपनी के निदेशकों को दिए गए शेयरों, कारों, प्रायोजित व्यावसायिक यात्राओं या सम्मेलन कार्यक्रमों पर भी लागू होगा। इसके अलावा, मालिक, निदेशक या किसी रिश्तेदार को लाभ या भत्ते का भुगतान करने पर भी उन्हें टीडीएस का भुगतान करना होगा। इसके अलावा डॉक्टरों को दिए जाने वाले नि:शुल्क सैंपल, टिकट व अन्य प्रायोजित सामग्री पर भी टीडीएस लगेगा।

जानें टीडीएस का नया दायरा –

नए नियमों के तहत, यदि कोई सोशल मीडिया प्रभावित व्यक्ति किसी विज्ञापन के बाद कंपनी द्वारा प्रायोजित वस्तु आपके पास रखता है, तो उसे इसके लिए टीडीएस भी देना होगा। लेकिन अगर ये चीजें वापस कर दी जाती हैं तो यह प्रावधान लागू नहीं होगा।

टीडीएस का यह नियम यहां लागू नहीं होगा-

अब आपको यह भी जानना होगा कि यह नियम कहां लागू नहीं होगा। यदि ग्राहकों को बिक्री छूट, नकद छूट या छूट की पेशकश की जाती है, तो नए नियम लागू नहीं होंगे। लेकिन यहां भी एक धारा है। यदि विक्रेता उपरोक्त के अलावा कोई छूट प्रदान करता है, तो टीडीएस लागू होगा।