Monday , October 25 2021
Breaking News
Home / क्राइम / 500 लोगों को लगाया करोड़ों का चूना, फिल्मों जैसी है ‘बंटी-बबली’ की अपराध-कथा

500 लोगों को लगाया करोड़ों का चूना, फिल्मों जैसी है ‘बंटी-बबली’ की अपराध-कथा

उदयपुर पुलिस ने 500 से ज्यादा लोगों से करोड़ों रुपए की ठगी करने वाले प्रशांत पुष्पानी और उसकी महिला मित्र यापी बाजा को दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया है। प्रशांत पुष्पानी ने अपने साथियों के साथ मिल उदयपुर, अजमेर, राजसमंद और अहमदाबाद समेत प्रदेश के कई जिलों में आम जनता को रकम दोगुना करने का लालच देकर करोड़ों रुपए की ठगी की थी। इसके बाद जब प्रशांत द्वारा बढ़ी हुई राशि पीड़ितों को नहीं लौटाई गई।

पिछले महीने पीड़ितों ने प्रशांत और उसकी महिला मित्र के खिलाफ उदयपुर पुलिस अधीक्षक डॉ राजीव से मिल न्याय की गुहार की थी। जिसमें उन्होंने बताया था कि प्रशांत और उसकी महिला मित्र में कुछ ही महीनों में रकम दोगुना करने का लालच देकर करोड़ों रुपए लेकर फरार हो गए हैं। इसके बाद से ही पुलिस प्रशांत और उसकी महिला मित्र की तलाश में जुटी थी।

15 दिनों में 5 राज्यों में बदली लोकेशन

अंबामाता थाना अधिकारी सुनील टेलर बताया कि प्रशांत पुष्पानी की तलाश में पुलिस की टीम लगातार सक्रिय थी। ऐसे में मुखबिर की सूचना और साइबर टीम की मदद से पुलिस की टीम प्रशांत को पकड़ने असम गुवाहाटी पहुंची। लेकिन प्रशांत वहां से भाग मेघालय के शिलोंग पहुंच गया। जब पुलिस की टीम शिलोंग पहुंची। तो प्रशांत वहां से फरार होकर अरुणाचल प्रदेश के डिब्रूगढ़ पहुंच गया।

लेकिन यहां भी पुलिस की टीम प्रशांत को पकड़ नहीं पाई और प्रशांत वहां से फरार होकर गोरखपुर लखनऊ भागते हुए दिल्ली पहुंच गया। जहां पुलिस की टीम ने प्रशांत और उसकी महिला मित्र को 8 मोबाइल फोन और 15 से ज्यादा सिम कार्ड के साथ गिरफ्तार कर लिया है। ऐसे में अब पीड़ितों के बयान के आधार पर प्रशांत और उसकी साथी यापी से पूछताछ की जा रही है। इसके साथ ही ठगी के इस गोरखधंधे में प्रशांत और उसकी महिला मित्र का साथ देने वाले अन्य युवकों की तलाश भी जारी है।

उदयपुर पुलिस अधीक्षक से शिकायत करने पहुंचे पीड़ित। (फाइल फोटो)

40% रकम बढ़ाकर देने का किया था वादा

उदयपुर के रहने वाले रामकेश ने बताया कि उसने अपनी जमा पूंजी के 23 लाख रुपए प्रशांत पुष्पानी को दिए थे। इसके एवज में प्रशांत ने उसे कागजात भी मुहैया कराए थे। इसमें हर महीने रकम पर 40% तक लाभ देने की बात कही थी। कुछ दिन बीत जाने के बाद प्रशांत ने उससे बातचीत बंद कर दी और अंबामाता थाना क्षेत्र में बने ऑफिस को बंद कर उदयपुर से ही फरार हो गया। इसके बाद पीड़ित रामकेश ने अब पुलिस अधीक्षक से इस मामले की शिकायत दर्ज की है।

रामकेश ने बताया कि उसकी तरह उदयपुर में कई युवाओं को प्रशांत रकम दोगुनी करने का लालच देकर अपना शिकार बना चुका है। इस गोरखधंधे में प्रशांत की महिला मित्र यापी बजाज भी उसका साथ देती थी। जो प्रशांत पुष्पानी के साथ 4 मई से गायब थी।

कुछ साल पहले तक उदयपुर में ड्राइवर की नौकरी करता था प्रशांत।

ड्राइवर की नौकरी करता था प्रशांत

प्रशांत द्वारा की गई ठगी के शिकार मनीष ने बताया कि डेढ़ साल पहले तक प्रशांत उदयपुर के अनंता रिसोर्ट में ड्राइवर की नौकरी करता था। इसी दौरान उसने बिटकॉइन और ऑनलाइन इन्वेस्टमेंट के नाम पर रुपए दोगुने करने का लालच दिया। इसके बाद मेरे जैसे कुछ और लोगों ने भी प्रशांत को अपनी जमा पूंजी दी।

उसने साथ काम करने वाले अन्य ड्राइवरों काे शेयर मार्केट, बिट काॅइन सहित अन्य स्कीमें बताई। उसने कहा कि इनमें 1000 रुपए इन्वेस्ट कराेगे ताे जमा पूंजी के अलावा 400 रुपए दूंगा। शुरुआती दिनों में प्रशांत ने 40% मुनाफे के साथ हमें लौटाई भी थी। इसी लालच में आकर हमने चयन बनाते हुए दूसरे लोगों को भी इस स्कीम से जुड़ा था। धीरे-धीरे जब मुनाफा बढ़ने लगा तो प्रशांत ने रुपए देना बंद कर दिया। इसके बाद प्रशांत 4 मई से अपनी महिला मित्र के साथ फरार हो गया था।

राजस्थान के दूसरे जिलों में भी जनता को बेवकूफ बना रहा था प्रशांत
एडवोकेट कौशिक आर्य ने बताया कि प्रशांत अब तक उदयपुर के साथ बांसवाड़ा, राजसमंद, अजमेर, कोटा, जोधपुर समेत प्रदेश के कई अन्य जिलों में जनता को बेवकूफ बना बना रहा था। इसमें अरुणाचल प्रदेश की निवासी उसकी महिला साथी यापी बजाज भी शामिल थी। यह दोनों मिल जनता को शेयर मार्केट, बिटकॉइन और आईपीएल जैसे आयोजनों पर ऑनलाइन इन्वेस्टमेंट की बात कहते और रकम दोगुना करने का लालच देकर जनता को बेवकूफ बना रहे थे।

loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...