Tuesday , November 30 2021
Home / ऑफबीट / केवल एक बच्ची के लिए यहां आती है पूरी ट्रेन, वजह जानकर आप भी यहां की सरकार की तारीफ करेंगे

केवल एक बच्ची के लिए यहां आती है पूरी ट्रेन, वजह जानकर आप भी यहां की सरकार की तारीफ करेंगे

अपने बच्चे की अच्छी शिक्षा और और उसके विकास के लिए हर इन्सान अपने बच्चे को स्कूल भेजता है और यह जरूरी भी है|दूर दराज क्षेत्रों में रहने वाले माता-पिता अपने बच्चों की पढ़ाई को लेकर बेहद चिंतित रहते हैं. चूँकि दूर-दराज इलाकों में जनसंख्या कम होने की वजह से वहां तमाम सरकारी सुविधाएं व शैक्षणिक सुविधाएँ पहुंचने में परेशानी होती है इसलिए ऐसे क्षेत्र के बच्चों को कई मील का सफर तय कर अपनी पढ़ाई पूरी करनी होती है|

हमारे देश में अगर किसी स्कूल बस वाले से कहा जाए कि फलां गाँव में सिर्फ एक या दो बच्चे हैं उन्हें रोजाना लाना ले जाना है तो शायद ही कोई तैयार हो, भले ही स्कूल वाले बस के पीछे लिखवाते हैं ‘पढ़ेगा भारत तभी तो बढ़ेगा भारत’. हमारे यहाँ तो आलम ये है कि इंसान बच्चों के सुविधानुसार अपना घर लेता है ताकि उसके बच्चे का स्कूल घर से दूर ना हो

सुबह के समय बहुत व्यस्तता रहती है लेकिन जो बच्चे सुबह सुबह स्कूल जाे है उनको तो समस्या होती ही है लेकिन जिनके बच्चे सुबह-सुबह स्कूल जाते हैं उनको भी तो सुबह बहुत काम रहता है| काम की बात तो अलग है लेकी समस्या तब अति है जब  आपका घर स्कूल से किसी आउटर एरिया में हो तो ऐसे में बहुत परेशानी होती है| जब हमारा घर किसी ऐसी जगह पर होता है जहां से आने जाने के साधन मिलने में थोड़ी परेशानी होती है तो बच्चों को स्कूल जाने में तो ये सबसे बड़ी समस्या है।

यहाँ तक की स्कूल के बस वाले या ऑटो वाले भी अगर एक दो बच्चे है तो उनको लेने आने के लिए अपना रास्ता नहीं बदलना चाहते| देखने को तो हर स्कूल वहां के पीछे लिखा रहता है की पढ़ेगा भारत तभी तो बढ़ेगा भारत लेकिन ये सब सिर्फ कहने की बाते होती है कोई किसी की मज़बूरी नही समझता| ऐसी स्थिति में बच्चो के गार्जियंस अपने बच्चे का अद्मिसिओं ऐसी जगह करते है जहा से उन्हें आने जाने में परेशानी न हो और आसानी से आने जाने के साधन भी मिल सके| और फिर इन्सान उसी हिसब से school के इलाके के आस-पास ही घर भी देखता है, ताकि आगे समस्या न हो।

आज हम आप को एक ऐसी ही लड़की के बारे में बताने जा रहे है जो की जापान की है जापान कई द्वीपों से बना देश है| आपको जानकर हैरानी होगी कि जापान के उत्तर के होकाइदो द्वीप पर सिर्फ एक बच्ची को लेने के पूरी ट्रेन आती है। अगर इतना सब सोचने लग जाये तो देश में कोई भी बच्चा अनपढ़ न रहे सभी को शिक्षा मिल सके| कुछ समय पहले वहां की सरकार के रेलवे विभाग ने तय किया कि शिराताकी गांव के स्टेशन को बंद किया जाए क्योंकि वहां से ज्यादा सवारियां नहीं मिलती हैं लेकिन तभी पता चला कि एक बच्ची है जो रोजाना स्कूल ट्रेन से ही आती जाती है।

जानकारी की गई तो पता चला कि वहां से आने जाने का और कोई महफूज साधन नहीं है। ऐसे में सरकार ने तय किया कि स्टेशन को चालू रखा जाए और रोजाना दिन में दो बार वहा से ट्रेन आती जाती रहेगी और तो और ट्रेन के टाइम को बच्ची के स्कूल के समय के हिसाब से एडजस्ट कर लिया गया है। पूरी ट्रेन में बच्ची के अलावा कोई दूसरी सवारी भी नहीं होती। रेलवे विभाग ने तय किया है कि जब तक बच्ची हाईस्कूल पास नहीं करती तब तक ट्रेन ऐसे ही चलती रहेगी।

loading...

Check Also

बर्फीले इलाकों में पाए जाने वाले काले सफेद पक्षी पेंग्विन हो सकते हैं एलियंस !

-मिले दूसरे ग्रह से ‘कनेक्शन’ के सबूत लंदन । धरती पर बर्फीले इलाकों में पाए ...