Sunday , October 24 2021
Breaking News
Home / खबर / दिल्ली में अनलॉक : खुल गए बाजार और चल दी मेट्रो, यहां जानिए नियम

दिल्ली में अनलॉक : खुल गए बाजार और चल दी मेट्रो, यहां जानिए नियम

नई दिल्ली
अनलॉक होती दिल्ली के दूसरे हफ्ते यानी सोमवार से शहर में ऑड-ईवन के आधार पर बाजार और मॉल्स खुल गए हैं। इसके साथ ही मेट्रो भी 50 फीसदी क्षमता के साथ शुरू हो सकेगी। सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में कोरोना के मामलों में कमी को देखते हुए कुछ और गतिविधियों को शुरू करने की घोषणा शनिवार को की। दिल्ली आपदा प्रबंधन अथॉरिटी (डीडीएमए) ने भी इसको लेकर आदेश जारी कर दिया है।

सीएम केजरीवाल ने कहा कि अब बाजार और मॉल्स ऑड-ईवन आधार पर खुल सकते हैं और मेट्रो भी 50 फीसदी क्षमता के साथ शुरू की जा रही है। ई-कॉमर्स के जरिए सामान बेचने की इजाजत होगी। ऑड-ईवन आधार पर बाजार और मॉल्स की आधी दुकानें एक दिन खुल सकेंगी और आधी दुकानें दूसरे दिन। दुकानें खुलने का समय सुबह 10 से रात 8 बजे तक होगा। वहीं दूसरी ओर वीकली मार्केट, जिम, स्पा, सलून, एंटरटेनमेंट पार्क, वॉटर पार्क, पब्लिक पार्क और गार्डन अभी नहीं खुलेंगे। दिल्ली में बीते सोमवार से अनलॉक की प्रक्रिया शुरू की गई थी और पिछले हफ्ते सरकार ने कंस्ट्रक्शन साइट्स और फैक्ट्रियां खोलने का आदेश दिया था।

ऑड-ईवन आधार पर खुलेंगी दुकानें
केजरीवाल ने कहा कि अभी लॉकडाउन सोमवार सुबह 5 बजे तक प्रभावी है और उसके आगे भी लॉकडाउन जारी रहेगा, लेकिन काफी सारी और गतिविधियों में रियायत दी जा रही है और उनको खोला जा रहा है। दिल्ली में बाजार, मॉल्स, मार्केट कॉम्प्लैक्स में दुकानों को ऑड-ईवन आधार पर खोला जा रहा है। यानी कि बाजार और मॉल्स की आधी दुकानें एक दिन खुलेंगी और आधी दुकानें दूसरे दिन खुलेंगी। ये शॉप्स दुकान नंबर (ऑड-ईवन) के हिसाब से खुल सकेंगी। दुकान नंबर के आधार पर वैकल्पिक दिनों के फॉर्मूले पर दुकानें खुलेंगी। जो स्टैंडअलोन शॉप (आस-पड़ोस की दुकान) और आवश्यक सेवाएं उपलब्ध कराने वाली दुकानें हैं, वे रोज खुल पाएंगी। मार्केट व मॉल्स में जरूरी सेवाओं, एजुकेशनल बुक्स, स्टेशनरी बुक्स, फैन की दुकानें रोज खुलेंगी। वैलिड आई कार्ड या ई-पास के आधार पर कर्मचारियों को आने-जाने की इजाजत होगी।

जहां पर एक ही नंबर की होंगी कई दुकानें
व्यापारिक संगठन सीटीआई के चेयरमैन बृजेश गोयल ने कहा कि दिल्ली सरकार ने बाजारों को खोलने की अनुमति दी है, इसको लेकर दिल्ली के तमाम व्यापारियों और मार्केट असोसिएशनों ने सरकार को धन्यवाद किया है। दिल्ली सरकार ने सावधानी बरतते हुए ऑड-ईवन के अनुसार बाजारों को खोलने की अनुमति दी है। हम चाहते हैं कि बाजारों में कोरोना नियमों का उल्लंघन ना हो और सभी व्यापारी तमाम गाइडलाइंस का पूरी तरह से पालन करें। कुछ बाजारों में एक ही नंबर से कई दुकानें होती हैं, उन बाजारों में वहां की असोसिएशन स्थानीय स्तर पर दुकानों को नंबर अलॉट कर सकती हैं जिससे कि ऑड-ईवन के अनुसार दुकानें खुल सकें।

सीटीआई तमाम व्यापारिक संस्थाओं और पुलिस प्रशासन से सम्पर्क करके यह सुनिश्चित करेगा कि किसी भी बाजार में सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क संबंधी नियमों का उल्लंघन ना हो। गोयल ने कहा कि हम चाहेंगे कि आने वाले दिनों में जिम, सैलून आदि गतिविधियों को भी खोला जाए क्योंकि इन सेक्टरों के व्यापारियों ने भी सरकार से गुहार लगाई है कि जल्दी से जल्दी उनको भी अपने व्यवसाय को खोलने की अनुमति दी जाए।

ऑफिसों के 50 पर्सेंट स्टाफ वर्क फ्रॉम होम पर रहेंगे
दिल्ली सरकार के दफ्तरों में अभी 50 फीसदी स्टाफ के साथ काम होगा। सरकारी दफ्तरों में ग्रुप-ए अधिकारी 100 फीसदी काम करेंगे, यानी सभी को दफ्तर आना है। ग्रुप-ए के नीचे वाले सभी कर्मचारियों में 50 फीसदी ऑफिस आएंगे और बाकी वर्क फ्रॉम होम करेंगे। लेकिन, आवश्यक सेवाओं के सौ फीसदी कर्मचारी दफ्तर जाएंगे। एचओडी इस बारे में शेड्यूल तैयार करेंगे। स्वास्थ्य विभाग और इससे जुड़े मेडिकल एस्टेब्लिशमेंट, पुलिस, जेल स्टाफ, होम गार्ड्स, सिविल डिफेंस, इमरजेंसी सेवाएं, डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन, सफाई, पानी, बिजली, आपदा प्रबंधन समेत कोरोना से लड़ाई में जरूरी सेवाओं में लगे सभी 100 पर्सेंट कर्मचारियों को इससे कोई छूट नहीं है। जरूरी सेवाओं को लोगों तक पहुंचाने का काम करने वाले कर्मचारियों को इस प्रस्ताव के तहत कोई छूट नहीं मिलेगी। जो कर्मचारी जरूरी सेवाओं में लगे हैं, उनके लिए 100 फीसदी हाजिरी का नियम ही लागू रहेगा। सीएम ने कहा कि दिल्ली में जितने भी प्राइवेट ऑफिस हैं वे 50 फीसदी मैन पावर के साथ खोले जा सकते हैं, लेकिन यह कोशिश करेंगे कि ज्यादा से ज्यादा लोग वर्क फ्रॉम होम करें। प्राइवेट ऑफिस अपने समय को व्यवस्थित करने की कोशिश करें, ताकि सब लोग एक साथ सड़क पर पर न आएं।

मेट्रो की आधी सीटों पर ही यात्रियों को बैठने की अनुमति
दिल्ली में मेट्रो 50 फीसदी क्षमता के साथ शुरू की जा रही है। मेट्रो में जितनी सीटें है, उससे आधी सीटों पर ही लोग बैठकर सफर कर सकेंगे। मेट्रो को इस बारे में हिदायत दी गई है। इसके अलावा ई-कॉमर्स के जरिए सामान बेचने की मंजूरी होगी। कर्मचारी के पास अपने संस्थान की ओर से दिया गया वैलिड आईकार्ड होना जरूरी है। जिस तरह से बाजार में दूसरी दुकानों को ऑड-ईवन के आधार पर खोलने की इजाजत दी गई है, उसी तरह से शराब की दुकानें भी ऑड-ईवन के आधार पर खुल सकेंगी।

loading...

Check Also

खूबसूरत जेलीफिश को देखने नजदीक जाना पड़ेगा महंगा, 160 फीट लंबी मूछों में भरा है जहर

लंदन (ईएमएस)। पुर्तगाली मैन ओवर नाम की जेलीफिश आजकल ब्रिटेन के समुद्र किनारे आतंक मचा ...