Sunday , May 16 2021
Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / UP की जेलों में घुस गया कोरोना, प्रदेश में 1641 बंदी संक्रमित, कैद में ही इलाज कराएंगे मुख्तार अंसारी

UP की जेलों में घुस गया कोरोना, प्रदेश में 1641 बंदी संक्रमित, कैद में ही इलाज कराएंगे मुख्तार अंसारी

लखनऊ . उत्तर प्रदेश के 64 स्थायी जिलों में 1,12,290 कैदी सजा काट रहे हैं। बांदा जेल में बंद मुख्तार अंसारी के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद प्रदेश की जेलों में बंद कैदियों का टेस्ट कराया गया जिसमें 1641 बंदी पॉजिटिव पाए गए हैं। अब तक छह की मौत हुई है। इसमें तीन बंदी, दो बंदी रक्षक समेत एक अधिकारी शामिल हैं। वहीं 22,375 बंदियों का वैक्सीनेशन कराया जा चुका है। बांदा जेल में बंद मुख्तार अंसारी की RTPCR रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद आज मेडिकल कालेज के डॉक्टरों की टीम मुख्तार का उपचार मंडल कारागार कराया जा रहा हैं।

बंद कंपाउंड होने की वजह से कोरोना संक्रमित होने का रहता है खतरा

प्रदेश के 64 जिलों में बंद एक लाख 12 हजार कैदियों में कोरोना कोरोना का खतरा बढ़ता नजर आ रहा है। जेल में छोटे-छोटे कंपाउंड में एक साथ कैदियों की रहने की वजह से संक्रमण फैलने की आशंका बढ़ जाती है। फिलहाल उत्तर प्रदेश के डीजी जेल आनंद कुमार के निर्देश पर प्रदेश के सभी जिलों में सैनिटाइजेशन के कार्य किए जा रहे हैं। उनके द्वारा सभी जेल सुपरिटेंडेंट को याद निर्देश दिया गया है कि, सोशल डिस्टेंसिंग के साथ व मास्क के साथ ही कह दी जेल में कैदी रहे।

डीजी जेल के अनुसार अभी तक प्रदेश में 22,375 बंदियों को वैक्सीनेशन किया जा चुका है। अन्य बंदियों के वैक्सीनेशन की प्रक्रिया 1 मई के बाद से शुरू की जाएगी। जेल सुपरिटेंडेंट के द्वारा किसी भी तरीके की लापरवाही व संक्रमण न फैले इसीलिए सभी तरीके के प्रयास किए जा रहे हैं।

मंडल कारागार में होगा मुख्तार का इलाज, आइसोलेशन में रखा गया है  

बांदा जेल मुख्तार अंसारी की RT-PCR रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद आज मेडिकल कालेज के डॉक्टरों की टीम मुख्तार को उपचार के मंडल कारागार रहेगी। मेडिकल कालेज के प्राचार्य मुकेश कुमार ने जानकारी दी। जेल में लगभग 60 लोग अब तक कोरोना की चपेट में आए इसलिए कैदियों को बाहर लाना और उनकी सुरक्षा का इंतजाम करना कठिन होगा। इसलिए डॉक्टरों की टीम मंडल कारागार में उनको आइसोलेशन में रखते हुए इलाज करेगी। फिलहाल मुख्तार अंसारी कोरोना संक्रमित होने के बाद भी उन्हें कोई अभी कोई दिक्कत नहीं उनका जेल के अंदर आइसोलेशन करके ही इलाज किया जाएगा।

नैनी जेल में सबसे ज्यादा संक्रमित कैदी, हमीरपुर डिप्टी जेलर समेत 6 की मौत

प्रदेश के प्रयागराज के नैनी जेल में 3 दिन पहले रिपोर्ट आई जिसके अनुसार जेल में बंद 123 कैदी कोरोना संक्रमित हैं। 114 पुरुष और 9 महिला कैदी संक्रमित हैं। जेल में 120 बेड का कोविड केयर सेंटर बनाया गया। एक जेलर,दो डिप्टी जेलर और 12 वार्डन भी कोरोना संक्रमित हैं। प्रदेश के 72 जेलों में से सबसे ज्यादा संक्रमित होने का मामला नैनी जेल में बताया जा रहा है।

वहीं अब तक हमीरपुर जेल में तैनात डिप्टी जेलर कि कोविड-19 होने की वजह से बांदा जिले में इलाज के दौरान बीते 20 अप्रैल को मौत हो गई थी। डिप्टी जेलर केपी सिंह यादव गाजीपुर के निवासी थे। बीते दिनों उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिट‍िव आई थी, जिसके बाद उनका उपचार बांदा के कोविड हॉस्पिटल में चल रहा था। इसके अलावा दो बंदी रक्षक व तीन कैदियों की अब तक मौत हो चुकी है।

प्रदेश के कुल 64 जिलों की स्थाई जेलों में बन्द बन्दियों को संक्रमण से बचाने के लिए कुल 83 अस्थाई कारागारों का निर्माण किया गया। जिनमे नए आने वाले बन्दियों को 14 दिन रखकर उनका कोविड टेस्ट कराकर निगेटिव आने पर ही स्थाई जेलों में भेजा जाता था। अतिरिक्त सतर्कता बरतते हुए स्थाई जेल में भी इनको 14 दिन कोरेण्टाइन बैरक में रखने के बाद सामान्य बन्दियों के साथ रखा जाता था। जेलों में युद्धस्तर पर बन्दियों ने दिन रात मास्क और सैनिटाइजर किये जा रहे हैं।

अब तक कुल 27 लाख से अधिक मास्क ,3000 से ज़्यादा पीपीई किट बनाये जो जेलों में बन्दियों को निशुल्क दिए गए। इसके अलावा जेलों की अपनी आवश्यकता के लिए कुछ जेलों ने सैनिटाइजर भी बनाया। 45 वर्ष से ऊपर के कुल 23,432 बन्दी वर्तमान में बन्द हैं। जिनमे से 22,375 बन्दियों को टीके की डोज़ दी जा चुकी है। मार्च 2020 के लॉक डाउन से अब तक कुल 492829 बन्दियों का कोविड टेस्ट हो चुका है।

loading...
loading...

Check Also

हिसार में हंगामा: कोविड अस्‍पताल का फीता काटने पहुंचे CM खट्टर का विरोध किए किसान, DSP को पीटा

हिसार में रविवार को 500 बिस्तर की क्षमता वाले अस्थायी कोविड अस्पताल का उद्घाटन करने ...