Winter Alert For Heart : सर्दियों में कार्डियक अरेस्ट का खतरा ज्यादा, आज ही बदल लें ये 4 आदतें

Winter Alert For Heart: सर्दी को सेहतमंद मौसम के तौर पर  जाना जाता है. हालांकि इस मौसम में स्वास्थ्य संबंधी कुछ समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं। यह दिल से जुड़ी कुछ गंभीर समस्याएं (Heart Disease) पैदा कर सकता है। इसके पीछे हाई कोलेस्ट्रॉल, हाई या लो ब्लड प्रेशर कारण नहीं है, लेकिन सर्दियों में एक छोटी सी गलती भी आपकी जान ले सकती है. सर्दियों में व्यायाम, खान-पान, पीने के पानी और नहाने से लेकर विशेष देखभाल की आवश्यकता होती है। इन चार चीजों में एक छोटी सी गलती भी आपको हार्ट अटैक के खतरे में डाल सकती है। आइए जानते हैं इस समस्या से बचने के लिए किन चार बातों पर ध्यान देना चाहिए।

पब्लिक लाइब्रेरी ऑफ साइंस जर्नल में प्रकाशित एक शोध रिपोर्ट के अनुसार, उच्च कोलेस्ट्रॉल, उच्च रक्तचाप या दिल से संबंधित किसी भी बीमारी वाले लोगों में सर्दियों में दिल का दौरा पड़ने की संभावना 31 प्रतिशत अधिक होती है। खासकर यह खतरा सुबह के समय सबसे ज्यादा होता है।

सर्दियों में सुबह क्यों होता है दिल की बीमारी का खतरा?

जब हम सोते हैं तो हमारे दिल को कम काम करना पड़ता है। इससे बीपी और शुगर कम रहता है, लेकिन शरीर के ऑटोनोमिक नर्वस सिस्टम को उठने के बाद बीपी और शुगर को सामान्य करना होता है। ठंड में जब हृदय यह काम करता है तो दबाव अधिक होता है। ठंड भी शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को धीमा कर देती है। ऐसे में हाई कोलेस्ट्रॉल के मरीज का ब्लड सर्कुलेशन प्रभावित होता है। ठंड के दिनों में शरीर को सामान्य रखने के लिए दिल को दोगुनी मेहनत करनी पड़ती है। ऐसे में अगर ब्लड फैट ज्यादा हो या शरीर ज्यादा ठंडा हो तो हार्ट अटैक या कार्डियक अरेस्ट का खतरा दोगुना बढ़ जाता है।

इसके साथ ही नसों में अतिरिक्त चर्बी के कारण नसें सूज जाती हैं, सख्त हो जाती हैं और सिकुड़ जाती हैं। ठंड में चर्बी जमने से ब्लड सर्कुलेशन में दिक्कत होती है। इससे ब्लड प्रेशर हाई या लो होने पर नस फटने का खतरा भी बढ़ जाता है।

करें ये उपाय-

ज्यादा पानी न पिएं-

ठंड के दिनों में सुबह उठने के तुरंत बाद ढेर सारा पानी न पिएं। पानी कम मात्रा में लें और यह गुनगुना होना चाहिए। हृदय रक्त को पंप करता है और ठंडे पानी से रक्त को ठंडा किया जाए तो हृदय पर दबाव बढ़ जाता है। इसलिए सुबह पानी कम पिएं।

सुबह देर से नहाएं-

उच्च कोलेस्ट्रॉल, उच्च रक्तचाप और हृदय की समस्याओं वाले रोगियों को सर्दियों में हमेशा देर तक जागना चाहिए। इतना ही नहीं, सुबह जल्दी नहाने से भी परहेज करें। जब भी नहाएं तो सीधे सिर पर पानी न डालें। जल पहले पैरों पर और अंत में सिर पर चढ़ाएं। साथ ही हमेशा गर्म पानी से ही नहाएं।

नमक और वसा युक्त भोजन कम करें

सर्दियों में नमक, घी, मक्खन, वसायुक्त भोजन कम करें। अगर आप दिल के मरीज हैं तो इन नियमों का सख्ती से पालन करें।

दोपहर में व्यायाम करें

आमतौर पर ज्यादातर लोग सुबह जल्दी या सुबह व्यायाम करते हैं। अगर आप भी करते हैं तो सर्दियों में इस रूटीन को बदल दें। क्‍योंकि सुबह के समय व्‍यायाम करने से दिल पर दबाव बढ़ता है और इसके फेल होने की संभावना ज्‍यादा हो जाती है। इसलिए सर्दियों में अपने दिल को सुरक्षित रखने के लिए दोपहर या शाम को बंद कमरे या जिम में व्यायाम करें।